Haider Aid

  • Breaking News

    सीतामढ़ी महिला थाना में हुआ अनोखी शादी ,पुलिस वाले बने बाराती


    We News 24 Hindi »सीतामढ़ी/बिहार 

    असफाक खान  की रिपोर्ट


    सीतामढ़ी : एक तरफ तो लोग कोरोना के भय से कोई भी समारोह मानाने से गुरेज करते दीखते है तो वही दूसरी तरफ इस लॉकडाउन में  गुरुवार को सीतामढ़ी भवेद्पुर स्थित  महिला थाने में एक अनोखी घटना घटी एक  देवर ने अपने विधवा भाभी से ब्याह  रचाया । थाना परिसर में शिवजी के मंदिर में दोनों ने परिणय सूत्र में बंधे । पंडित जी ने पूरी विधि-विधान से शादी  संपन्न कराया। बराती के साथ पुलिसकर्मी भी इस शादी में शरीक हुए। सभी लोगों ने वर-वधू को आशीर्वाद दिया। 



    शादी में परसौनी प्रखंड के पूर्व प्रमुख, उप प्रमुख चंद्र किशोर सहनी, पूर्व उप सरपंच दीपक कुमार, कन्या के पिता बिदेश्वर सहनी, मां चंद्रिका देवी, दुल्हे के पिता चंद्र सहनी, ग्रामीण रंभू सहनी, कपल सहनी, चेतन सहनी, मुकेश कुमार सहित दोनों पक्ष के घर के लोगों के अलावा कई अन्य लोग भी इस शादी के गवाह बने। महिला थाना प्रभारी मलती कुमारी ने दोनों पक्षों के बीच बॉन्ड भी भरवाया। जिसपर वर-वधु सहित दोनों पक्ष से उपस्थित लोगों ने सर्वसम्मति से अपने हस्ताक्षर किए। ताकि, भविष्य में दोनों के बीच कभी कोई अनबन की नौबत आए भी तो सुलह-समझौता करा दिया जाए।



    चट मंगनी पट ब्याह के अंदाज में हुई तैयारी आनन-फानन में दोनों पक्षों ने शादी के निमित सारा इंतजाम कर लिया। देखते ही देखते शादी के जोड़े, कपड़े से लेकर माला, सिदूर आदि जुटा लिए गए। पंडित जी, ठाकुर जी बुला लिए गए। मिठाई व भोजन आदि पुख्ता इंतजाम हो गया। मंगल गीत, जयमाला, भाउर घुमान से लेकर सिदूरदान तक सभी रस्में पूरी की गईं। थाने में इस तरह आननफानन अनोखी शादी के बारे में सुनकर हर कोई कौतहूल से भर गया। एक साल पहले हो गई थी भाई की मौत महिला थाना प्रभारी मालती कुमारी की पहल पर देवर इस महिला ने शादी रचाने को राजी हुआ। 



    बड़े भाई की बिजली करंट से एकसाल पूर्व मौत के बाद देवर व भौजाई एक-दूसरे के साथ रह रहे थे। मगर, शादी के नाम पर देवर कन्नी काटने लगा तो महिला ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। गांव वाले भी महिला के साथ खड़े हो गए। महिला थाना प्रभारी ने मामले में हस्तक्षेप कर देवर को शादी के लिए रजमांद किया। आखिरकार, थाने में ही शादी की रस्में पूरी हुईं। महिला थाना प्रभारी ने बताया कि देवर-भाभी परसौनी थाने के मदनपुर वार्ड नंबर-5 के रहने वाले हैं।


     संतोष सहनी पिता चंद्र सहनी के बड़े भाई की एक साल पूर्व बिजली करंट से मौत हो गई। पांच साल पूर्व शादी हुई थी। उसको सालभर का एक पुत्र है। मौत के बाद देवर अपनी भौजाई रंजीता देवी के साथ पति-पत्नी के जैसा रहने लगा। रंजीता का मायका नेपाल के बेलवा जबदी गांव में है। वह बिदेश्वर सहनी की पुत्री है। इस शादी के लिए ससुराल के साथ उसके मायके वाले भी तैयार थे। मगर, संतोष इन्कार कर रहा था। मामला थाने पहुंचा तो हमने दोनों से बातचीत करके समझौता करा दिया।

    ये भी पढ़े-रेलवे लाइन के आस-पास से झुग्गी हटाने का SC ने दिया आदेश कहा- 'राजनीतिक हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं


    इस तरह के विवाद में हमेशा सामाजिक स्तर पर समझौता कराने का प्रयास किया जाता है। ताकि, किसी का घर उजड़ने से बच जाए। दोनों की रजामंदी से यह अच्छी पहल कही जाएगी।
    अनिल कुमार, एसपी, सीतामढ़ी

    Header%2BAid

    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad