Header Ads

  • BREAKING NEWS

    असम मिजोरम बॉर्डर पर हिंसक झड़प में कई घायल

      



    We News 24 Hindi »सिलचर/आसाम 

    मिडिया रिपोर्ट 

    आइजोल/सिलचर, एजेंसियां। असम और मिजोरम के लोगों के बीच आपस में ही हिंसक झड़प हो गई है जिसमें कई के घायल होने की सूचना है। घटना के बाद दोनों राज्यों की सीमा पर तनाव बन गया है। आइजोल के पुलिस अधिकारी ने बताया कि घंटों तक चली हिंसक झड़प के बाद फि‍लहाल इलाके में स्थिति नियंत्रण में है। असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने इस घटना के बाद वहां की मौजूदा स्थिति से प्रधानमंत्री कार्यालय यानी पीएमओ और केंद्रीय गृह मंत्रालय को अवगत कराया है। 

    ये भी पढ़े-कौन बनेगा परिहार विधान सभा से विधायक , RJD के ऋतू जयसवाल या BJP के गायत्री देवी ,जाने जनता की राय


    यह झड़प मिजोरम के कोलासिब के वैरेंगते गांव और असम के कछार जिले के लैलापुर गांव के पास बताई जा रही है। केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला सोमवार को दोनों राज्यों के साथ होने वाली बैठक में स्थिति की जानकारी लेंगे। मिजोरम के गृह मंत्री ललचामलियाना ने बताया कि बैठक में दोनों राज्यों के मुख्य सचिव भी मौजूद रहेंगे। दोनों राज्यों ने हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया है। 



    कोलासिब जिले के पुलिस उपायुक्त एच लल्थलंगलियाना ने बताया कि शनिवार शाम को लाठी-डंडे लिए असम के कुछ लोगों ने सीमावर्ती गांव के बाहरी क्षेत्र में स्थित ऑटो रिक्शा स्टैंड के पास कथित तौर पर एक समूह पर हमला बोला। इस घटना के बाद वैरेंगते गांव के निवासी बड़ी संख्या में जमा हो गए। इलाके में धारा-144 लागू होने के बावजूद वैरेंगते गांव की गुस्साई भीड़ ने राष्ट्रीय राजमार्ग पर लैलापुर गांव के लोगों की करीब 20 अस्थायी झोपड़ियों और दुकानों को आग लगा दी। 


    ये भी पढ़े-LJP के नेता मनेर विधानसभा से लड़ेंगे निर्दलीय चुनाव



    पुलिस उपायुक्त ने बताया कि घंटों तक चली इस झड़प में कई लोग घायल हो गए। झड़प में घायल एक व्यक्ति की हालत नाजुक है। वहीं असम सरकार ने कहा है कि हालात काबू में हैं। इलाके में शांति कायम रखने के लिए पुलिस को तैनात किया गया है। असम के वन मंत्री एवं स्थानीय विधायक परिमल शुक्ला बैद्य ने बताया कि क्षेत्र में पहले भी ऐसी घटनाएं होती रही हैं। दरअसल दोनों राज्‍यों के लोग अवैध तरीके से पेड़ काटते हैं जिसके दौरान उनमें झड़प हो जाती है। 

    असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल के निर्देश पर बैद्य ने लैलापुर का दौरान करके हालात की जानकारी ली। असम सरकार ने कहा है कि यह घटना समुदायों में अशांति पैदा करने के इरादे से की गई थी। असम के आयुक्त (गृह) ज्ञानेंद्र त्रिपाठी ने लोगों को सुरक्षा का भरोसा दिया है। उन्‍होंने मिजोरम के लोगों के साथ सौहार्द बनाए रखने की गुजारिश भी की। कछार के पुलिस अधीक्षक भंवर लाल मीणा ने कहा कि आगे ऐसी घटनाएं ना हों इसके लिए कदम उठाए जा रहे हैं। 





    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करेंला

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad