Header Ads

  • BREAKING NEWS

    बिहार विधानसभा चुनाव में PM मोदी बने चुनवी मुद्दा ,NDA कार्यकर्ताओं में उलझन

     


    We News 24 Hindi »पटना,बिहार

    अमिताभ मिश्रा की रिपोर्ट

    पटना:  बीते कई चुनावों से  PM  नरेंद्र मोदी हर बार मुद्दा रहे हैं। एक सत्ता पक्ष  में आने के लिए तो दूसरा पक्ष  सत्तासे दूर रखने  के लिए पीएम मोदी का नामको आगे करता है । लेकिन, बिहार विधानसभा चुनाव में पहली बार ऐसा हो रहा है कि मोदी अपने समर्थकों के लिए ही मुददा बन गए हैं। भाजपा  खबरदार रही है-, कोई दूसरा दाल मोदी के  नाम का चुनावी इस्तेमाल न करे। किया तो चुनाव आयोग के पास शिकायत करेंगे। इधर लोजपा कह रही है कि वह मोदी के नाम पर वोट मांगेगी, जिसे जहां शिकायत करनी हो, कर ले।


    ये भी पढ़े-भारतीय एयरफ़ोर्स का 88वां स्थापना दिवस , आज आसमान में दिखाएगा तेजस और रफाल अपना पराक्रम


    LJP कर रही JDU प्रत्‍याशियों का विरोध
    मोदी को अलग ढंग से चुनावी मुददा बनाने की शुरुआत लोजपा की ओर से ही हुई। लोजपा ने तय किया कि वह एनडीए में रहते दूसरे घटक दल जदयू का विरोध करेगी। उसने नारा दिया-' मोदी से बैर नहीं, नीतीश की खैर नहीं ।' बाद में इसे बदला- 'दिल्ली से बैर नहीं, नीतीश की खैर नहीं।' जदयू पूरे प्रकरण पर चुप है। क्योंकि राज्य में वोट लेने के लिए उसके पास मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जैसा बड़ा कद है। फिर भी गठबंधन धर्म के नाते उसने अपना विरोध दर्ज किया।


    ये भी पढ़े-बिहार के पूर्व DGP के VRS पर पानी फिर गया ,न बक्सर न ही वाल्मीकि नगर से मिला टिकट,अब क्या करेंगे DGP



    जोडी नंबर वन

    जदयू की ओर से नीतीश कुमार और पीएम मोदी का एक पोस्‍टर जारी किया गया , जिसमें दोनों को जोड़ी नंबर वन बताया गया। साथ ही बिहार के विकास को आयाम देने के लिए दोनों की जाेड़़ी को क्रेडिट दिया गया।पोस्‍टर में  बिहार में  एनडीए सरकार की पर्यावरण के क्षेत्र में किए गए कार्यो की उपलब्धियों को दिखाया गया है। नीतीश कुमार के महत्‍वपूर्ण योजना जल-जीवन-हरियाली  की उपलब्धियों को भी रेखांकित किया गया है। अंत में स्‍लोगन है- नीतीश और मोदी की जोड़ी ने बिहार को दिया नया आयाम।




    सुशील मोदी ने लोजपा को चेतावनी दी
    भाजपा ने जदयू के विरोध का सम्मान किया। उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने प्रेस कांफ्रेंस में चेतावनी दी-एनडीए के चार घटक दलों-भाजपा, जदयू, हम और विकासशील इंसान पार्टी के अलावा अन्य दल चुनाव में नरेंद्र मोदी के नाम का इस्तेमाल करेंगे तो चुनाव आयोग से शिकायत की जाएगी। कानूनी कार्रवाई की मांग की जाएगी।




    लोजपा का पलटवार, पीएम मोदी पूरे देश के
    इधर लोजपा का कहना है कि वह केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपलब्धियों के नाम पर ही जनता से वोट मांगेगी। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद प्रिंस पासवान कहते हैं-प्रधानमंत्री पूरे देश के हैं। चुनाव प्रचार के दौरान लोजपा कार्यकर्ता लोगों को बताएंगे कि नरेंद्र मोदी के हाथों को मजबूत करने के लिए हमारे उम्मीदवार को वोट दीजिए।


    ये भी पढ़े-इतिहास बदल गया, बिहार विधानसभा चुनाव में भी नीतीश नहीं रहे अब BJP के 'बड़े भाई'


    NDA कार्यकर्ताओं में उलझन
    भाजपा की चेतावनी के बावजूद लोजपा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम का इस्तेमाल कर रही है। उसके उम्मीदवारों के नामांकन में प्रधानमंत्री की तस्वीर लिए लोग बड़ी संख्या में मिल जाएंगे। लेकिन, भाजपा की ओर से अबतक लोजपा के खिलाफ कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई गई। इसमें परेशानी भी है। शिकायत दर्ज कौन कराएगा। स्थानीय स्तर पर एनडीए के कार्यकर्ताओं में अधिक उलझन नहीं है। वे लोजपा को एनडीए का ही हिस्सा मान रहे हैं। जदयू की ओर से शिकायत दर्ज कराने का सवाल नहीं उठता है। 


    क्योंकि जदयू ने आधिकारिक तौर पर कभी लोजपा को स्वीकार नहीं किया। लोकसभा में जदयू संसदीय दल के नेता राजीव रंजन सिंह ऊर्फ ललन सिंह ने कई बार कहा है-लोजपा का जदयू से नहीं, भाजपा से गठबंधन है। कुल मिलाकर ब्रांड मोदी को लेकर भाजपा और लोजपा आपस में उलझ गई है। अभी शुरुआत है। संभव है कि चुनाव प्रचार सघन होने के साथ ही यह विवाद कोई और स्वरूप ग्रहण करे।


    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad