Header Ads

  • BREAKING NEWS

    केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान 74 वर्ष में निधन ,चिराग ने लिखा आप जहां भी हैं हमेशा मेरे साथ है।

     




    We News 24 Hindi »नई दिल्ली 

    काजल कुमारी की रिपोर्ट 

    नई दिल्ली :  केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान अब इस दुनिया में नहीं रहे। उनके बेटे और लोक जनशक्ति पार्टी अध्यक्ष चिराग पासवान ने गुरुवार की शाम को उनके निधन के बारे ट्वीट कर जानकरी दी। चिराग ने अपने बचपन का एक फोटो ट्वीट किया, जिसमें वे पासवान के गोद में बैठे हैं और लिखा है- "पापा... अब आप इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन मुझे पता है कि आप जहां भी हैं हमेशा मेरे साथ है।" 


    ये भी पढ़े-जिला परिषद फंड से किया स्कूल के रास्ते का निर्माण

    74 वर्षीय रामविलास पासवान पिछले कुछ हफ्तों से बीमार चल रहे थे और दिल्ली के साकेत स्थित अस्पताल में भर्ती थे। उनके पास केन्द्रीय खाद्य एवं आपूर्ति मंत्रालय था। रामविलास पासवान पिछले पांच दशक से भी ज्यादा वक्त से राजनीतिक में सक्रिय थे और देश के सबसे बड़े दलित नेताओं में उनकी पहचान होती थी।


    ये भी पढ़े-मुजफ्फरपुर जिले में अपराधी बेलगाम ने थाना चौकीदार को गोली मार कर हत्या कर दी


    रामविलास पासवान के निधन की खबर से राजनीतिक जगत में शोक की लहर है। सभी दलों के नेताओं ने रामविलास पासवान के निधन पर दुख व्यक्त किया है। पीएम मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, गृह मंत्री अमित शाह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, बीजेपी नेता देवेन्द्र फडणवीस ने एलजेपी चीफ चिराग पासवान को फोन कर रामविलास पासवान के निधन पर सांत्वना व्यक्त किया।


    पीएम ने कहा- मजबूत सहयोगी खो दिया

    रामविलास पासवान के निधन पर प्रधानमंत्री ने दुख व्यक्त करते हुए वे इसे शब्दों में बयां नहीं कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि एक ऐसा शून्य हो गया है, जिसे शायद कभी नहीं भरा जा सकेगा। राम विलास जी का जाना यह व्यक्तिगत क्षति है। मैंने अपना दोस्त और मजबूत सहयोगी खो दिया।


    ये भी पढ़े-
    बंगाल में बीजेपी के 'नवान्न चलो' आन्दोलन में जमकर बवाल , प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज, कोलकाता बना रणक्षेत्र


    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि देश ने एक विज़नरी नेता को खो दिया है। राष्ट्रपति ने कहा- वह संसद में सबसे सक्रिय और लंबे समय तक सेवा करने वाले सदस्यों में से एक थे। वह दबे कुचलों की आवाज थे।  



    गौरतलब है कि पिछले कुछ समय से बिहार चुनावों को लेकर अहम फैसले रामविलास पासवान की अस्वस्थता के चलते खुद चिराग ही ले रहे थे। हाल ही में चिराग ने ही लोक जनशक्ति पार्टी संसदीय बोर्ड की बैठक में यह फैसला लिया की पार्टी बिहार में एनडीए के साथ जाने की बजाए अकेली चुनाव लड़ेगी। 


    ये भी पढ़े-बिहार विधानसभा चुनाव में PM मोदी बने चुनवी मुद्दा ,NDA कार्यकर्ताओं में उलझन


    कब-कब कैबिनेट मंत्री रहे
    1989- श्रम कल्याण मंत्री
    1996- रेल मंत्री
    1996- संसदीय मामलों के मंत्री
    1999- संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री
    2001- कोयला और खदान मंत्री
    2004- रसायन व उर्वरक, स्टील मंत्री
    2014 और 2019- उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय और पीडीएस


    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad