Header Ads

  • BREAKING NEWS

    कोंग्रेस के इशारे पर नाचने वाली उद्धव सरकार ,बदले की भावना से किया पत्रकार अर्नब गोस्वामी को गिरफ्तार

       



    We News 24 Hindi »मुंबई 

    अनील पाटिल की रिपोर्ट   की रिपोर्ट


    मुंबई: पुलिस ने रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी (अर्नब गोस्वामी) को गिरफ्तार कर लिया है। मुंबई पुलिस बुधवार की सुबह-सुबह अर्नब के घर में घुसी और फिर उन्हें गिरफ्तार किया और उन्हें अपने साथ अलीबाग ले गई है। इधर, अर्णब ने पुलिस पर अपने और परिवार के साथ मारपीट का आरोप लगाया। रिपब्लिक टीवी ने कुछ वीडियो दिखाया है, जिसमें पुलिस और अर्नब के बीच झड़प होती दिख रही है। मुंबई पुलिस ने 2018 से जुड़े एक केस के सिलसिले में अर्णब के खिलाफ यह कार्रवाई की है। 



    पुलिस महानिरीक्षक (कोंकण रेंज) संजय मोहिते ने पुष्टि की कि अर्नब गोस्वामी को रायगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार किया है। हालांकि, उन्होंने अधिक विवरणों देने से इनकार कर दिया। अर्नब को अलीबाग ले जाया जा रहा है और आज बाद में स्थानीय अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा। 



    जानें किस मामले में हुई कार्रवाई
    दरअसल, यह मामला 2018 का है, जब एक 53 वर्षीय इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक और उनकी मां कुमुद नाइक ने मई 2018 में अलीबाग में आत्महत्या कर ली थी। इस घटना के बाद एक सुसाइड नोट मिला था, जो कथिततौर पर अन्वय द्वारा लिखा गया था। इस सुसाइड नोट में उन्होंने कहा था कि अर्नब गोस्वामी और दो अन्य ने उन्हें 5.40 करोड़ रुपये का भुगतान नहीं किया, जिसकी वजह से उन्हें आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ा।




    अर्नब गोस्वामी ने मुंबई पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस ने सास-ससुर, बेटे और पत्नी के साथ मारपीट की है। रिपब्लिक टीवी ने अपने वीडियो फुटेज में दावा किया है कि मुंबई पुलिस ने अर्नब गोस्वामी के साथ भी मारपीट की है।



    53 वर्षीय इंटीरियर डिज़ाइनर अन्वय नाइक और उनकी मां कुमुद नाइक मई 2018 में अलीबाग तालुका के कावीर गांव में अपने फार्म हाउस पर मृत पाए गए थे। अन्वय फर्स्ट फ्लोर पर मृत पाए गए, जबकि उनकी मां का शव ग्राउंड फ्लोर पर मिला था। इसके बाद 48 वर्षीय अन्वय की पत्नी अक्षता नाइक ने मामला दर्ज कराया था। उस घटना के बाद जो सुसाइड नोट मिला, उसमें मृतक ने आरोप लगाया था कि उसे और उसकी मां को अपनी जिंदगी समाप्त करने के लिए मजबूर होना पड़ा, क्योंकि उन्हें अर्नब गोस्वामी और दो अन्य फिरोज शेख और नितेश सरदा के द्वारा 5.40 करोड़ रुपये की बकाया राशि का भुगतान नहीं किया गया। 


    मई 2020 में अन्वय नाइक की बेटी अदन्या ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख से से दोबारा जांच करने की गुहार लगाई। अदन्या ने आरोप लगाया कि अलीबाग पुलिस ने मामले की ठीक से जांच नहीं की थी। इसके बाद महाराष्ट्र के गृहमंत्री ने नए सिरे से जांच की घोषणा की। इससे पहले स्थानीय पुलिस ने यह कहते हुए मामला बंद कर दिया था कि मामले में दर्ज लोगों के खिलाफ पर्याप्त सबूत नहीं थे।




    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें


    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad