Header Ads

  • BREAKING NEWS

    दीपावली के बाद उत्तर प्रदेश के इस शहर में होगा रुसी कोरोना वेक्सिन के ह्यूमन क्लीनिकल ट्रायल

       



    We News 24 Hindi »कानपूर /उत्तरप्रदेश 

    राजेश कुमार की रिपोर्ट

    कानपुर :में अब रूस की स्पूतनिक-वी वैक्सीन का भी ह्यूमन क्लीनिकल ट्रायल होगा। यह दिवाली बाद मेडिकल कॉलेज में किया जाएगा। इसके लिए 250 वॉयल आ गए हैं। आईसीएमआर और ड्रग कंट्रोलर से हरी झंडी मिलने के बाद इस वैक्सीन का तीसरा ट्रायल भारत में किया जा रहा है। इसके लिए फार्मा कंपनी डॉक्टर रेड्डी से करार किया गया है। जीएसवीएम की एथिक्स कमेटी ने मंजूरी दे दी है।


    ये भी पढ़े-मुकदमे का दौरान नहीं मिलेगी पिता को नाबालिक बच्चो की अभिरक्षा के जिम्मेदारी



    इस ट्रायल में 18 से 65 साल तक के बुजुर्गों शामिल किए जाएंगे। 200 वालंटियरों को डोज दी जाएगी। दूसरी डोज 21 दिन बाद लगाई जाएगी। वैक्सिनेशन के 21 दिन बाद इनका एंटीबॉडीज टाइटर टेस्ट किया जाएगा। टेस्ट के लिए सैंपल आईसीएमआर,  फार्मा कंपनी और रूस के साथ भारत बायोटेक को भी भेजा जाएगा। जीएसवीएम के डॉक्टर वालंटियरों पर उसके प्रभावों पर शोध भी करेंगे जो करीब सात महीने तक चलेगा।




    वैक्सीन के लिए खोला गया पंजीकरण 


    आपको वैक्सीन लगवाना है तो मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन विभाग के सहायकों के दो नंबर भी जारी किए गए हैं जिनमें फोन कर रजिस्ट्रेशन कराया जा सकता है। 8090609630 और 8707574418 पर पंजीकरण कराया जा सकता है। 


    ये भी पढ़े-पाकिस्तान की और से संघर्ष विराम का उल्लंघन करने पर राहुल गाँधी ने कही ये बाते



    ये  संस्थान भी शामिल 


    ट्रायल में देश में 12 संस्थानों में जीएसवीएम के साथ ही क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज वेल्लोर, केईएम हॉस्पिटल पुणे, जेएसएस हॉस्पिटल मैसूर,  केएलई बेलगांव, पांडिचेरी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस पुडुचेरी को भी शामिल किया गया है। 






    ये नहीं होंगे वालंटियर 

    डायबिटीज, अन्य बीमारियां जैसे हार्ट, कैंसर, किडनी आदि से ग्रसित लोगों को शामिल नहीं किया जाएगा। जिनके घर में कोई सदस्य कोरोना ग्रसित हो गया तो उसे निगेटिव होने के 14 दिन के बाद ही शामिल किया जाएगा। 



    कानपुर में स्वदेशी वैक्सीन का हो रहा ट्रायल 

    कानपुर में आईसीएमआर की बनी कोरोना वैक्सीन (बीबीवी 152 कोविड वैक्सीन) का प्रखर हॉस्पिटल में 75 वालंटियरों पर दो बार ट्रायल पूरा हो चुका है। 



    ये भी पढ़े-अयोध्या ने किया नया कीर्तिमान स्थापित ,गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स नाम हुआ दर्ज


    डॉ.सौरभ अग्रवाल, चीफ गाइड वैक्सीन ट्रायल टीम, जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज का कहना है कि एथिक्स कमेटी ने रूसी वैक्सीन के ट्रायल को मंजूरी दे दी है। वालंटियरों के रजिस्ट्रेशन का काम चल रहा है। इसी महीने के दूसरे पखवारे से ट्रायल शुरू कर दिया जाएगा।  प्रो.आरबी कमल, प्राचार्य जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज ने बताया कि मेडिकल कॉलेज रूसी वैक्सीन का ट्रायल करने जा रहा है। सारी औपचारिकताएं पूरी हो गई हैं। कानपुर शहर के लिए यह गौरव के बात है। हैलट में वालंटियरों को वैक्सीन लगाई जाएगी। जरूरत पड़ी तो संख्या बढ़ाई जाएगी। 









    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें





    %25E0%25A4%25B5%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25AC%25E0%25A4%25B8%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2587%25E0%25A4%259F%2B%25E0%25A4%25B2%25E0%25A5%258B%25E0%25A4%2597%25E0%25A5%258B

     

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad