Haider Aid

  • Breaking News

    शर्मनाक घटना, दो दलित बहनों की निर्मम हत्या, सामूहिक बलात्कार की आशंका

      



    We News 24 Hindi »फतेहपुर/उत्तरप्रदेश

    अविनाश त्यागी की  रिपोर्ट


    उत्तर प्रदेश : में एक के बाद एक हो रहे है दलित लडकी पर अत्याचार रुकने का नाम नहीं ले रहा है . अब प्रदेश के  फतेहपुर जिले से इंसानियत को शर्मसार और मानवता को झकझोड़  देने वाली घटना सामने आ रही है। जिले के छिछनी गांव में सगी बहनों की आंख फोड़ कर हत्या कर दी गई। गैंगरेप के बाद उनकी हत्या किए जाने की आशंका है। दोनों बहनों के शव तालाब में मिले।

    ये भी पढ़े-


    असोथर थाने के छिछनी गांव में रहने वाले दिलीप सविता की आठ वर्षीय बेटी शुभि और 12 साल की किरन सोमवार दोपहर साग तोड़ने खेत पर गई थीं। काफी समय तक दोनों वापस घर नहीं पहुंची तो परिजनों ने तलाश शुरू की लेकिन कहीं पता नहीं चल सका। इस पर परिजन खेतों की तरफ गए लेकिन उनका वहां भी दोनों नहीं मिलीं।





     इसी दौरान जंगल से वापस लौट रहे ग्रामीणों ने गांव के बाहर स्थित नदी से कुछ ही दूरी पर स्थित एक तालाब में दोनों बहनों के शव उतराते देखे तो परिजनों को सूचना दी। सूचना पर पहुंचे परिजनों ने ग्रामीणों की मदद से दोनों को बाहर निकाला लेकिन तब तक दोनों की मौत हो चुकी थी।



    ये भी पढ़े-वरिष्ठ भाजपा विधायक,नदंकिशोर यादव होंगे बिहार विधानसभा के नए अध्यक्ष




    प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक दोनों बच्चियों के पैर पुआल से बंधे थे और दोनों बच्चियों की आंखें फूटी थीं। इससे इलाके में सनसनी फैल गई। घटना की जानकारी पर रात में ही पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची और शवों को कब्जे में लेकर पोस्टर्माटम के लिए भेज दिया। ग्रामीण बहनों के साथ गैंग रेप की आशंका जता रहे हैं, हालांकि एसपी प्रशांत वर्मा का कहना है कि सिंघाड़ा तोड़ते समय दोनों बच्चियों की डूबने से मौत हुई है। आंखों में हल्की खरोंच है। हत्या जैसी कोई बात सामने नहीं आ रही है। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है, जिससे मामले की पुष्टि हो जाएगी।











    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें





    %25E0%25A4%25B5%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25AC%25E0%25A4%25B8%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2587%25E0%25A4%259F%2B%25E0%25A4%25B2%25E0%25A5%258B%25E0%25A4%2597%25E0%25A5%258B

      

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad