Haider Aid


 

  • Breaking News

    जम्मू कश्मीर अशांति फ़ैलाने के लिए 400 आतंकी बैठे है लांचिंग पैड पर



    We News 24 Hindi »जम्मू /कश्मीर 
    हैदर अली की रिपोर्ट


    जम्मू कश्मीर: की शांति व्यवस्था बिगाड़ने के लिए नियंत्रण रेखा पर बने  घुसपैठ की फिराक में । पाकिस्तानी सेना इन्हें भारतीय क्षेत्र में धकेलने के लिए आए दिन गोलाबारी कर रही है। इसका भारतीय सेना मुंहतोड़ जवाब दे रही है। इतना निश्चय है कि अगर आतंकी घुसपैठ की कोशिश करेंगे तो ढेर कर दिए जाएंगे।



    आतंकियों के मुंह पर करारा तमाचा 

    ऐसा कई बार हुआ है जब आतंकियों का भारतीय जवानों से सामना हुआ तो उन्हें उल्टे पांव पाकिस्तान की ओर भागना पड़ा। संवैधानिक बदलाव के बाद जम्मू कश्मीर विकास की सीढि़यां लगातार चढ़ रहा है। हाल ही में जिला विकास परिषद के चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से हुए। इसमें जमकर हुई वोटिंग अलगाववादियों और आतंकियों के मुंह पर करारा तमाचा रहा। इस सबसे ही आतंकी संगठन और पाकिस्तान के हुक्मरान बेचैन हो उठे हैं। इसीलिए पाकिस्तान आतंकियों का सहारा लेकर जम्मू कश्मीर में शांति भंग करने के प्रयास में है। इसीलिए नियंत्रण रेखा पर लांचिंग पैड बनाकर पाकिस्तानी सेना की शह पर चार सौ से अधिक आतंकी घुसपैठ के लिए बैठाए गए हैं।



    175 से 210 आतंकी लांचिंग पैड पर हैं


    उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार इस समय गुलाम कश्मीर में लां¨चग पैड पर मौजूद आतंकियों की संख्या 300 से 415 के बीच है। इनमें से पीर पंजाल के उत्तर में 175 से 210 आतंकी लांचिंग पैड पर हैं। जम्मू क्षेत्र में पीर पंजाल के दक्षिण के इलाकों में 119 से 216 आतंकी घुसपैठ के लिए बैठाये गए हैं। पाकिस्तान इन आतंकियों की घुसपैठ की फिराक में तो है ही, साथ ही वह कश्मीर में सक्रिय आतंकियों तक हथियार और गोला-बारूद पहुंचाने की साजिश रच रहा है। इसके लिए वह ड्रोन का भी सहारा ले रहा है बीस रास्तों से घुसपैठ पर नजर जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों की घुसपैठ में इस्तेमाल होने वाले बीस रूट चिन्हित किए गए हैं।

     सीमा सुरक्षा बल की कड़ी नजर


    इन जगहों पर सेना व सीमा सुरक्षा बल ने कड़ी नजर रखी है। कश्मीर में घुसपैठ करने के लिए आतंकवादियों ने गुलमर्ग, बांडीपोरा, बारामुला के ऊपरी इलाकों के साथ दक्षिण कश्मीर के यूसमर्ग जैसे इलाके इस्तेमाल किए हैं। जम्मू संभाग में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर कठुआ, सांबा, जम्मू, राजौरी में घुसपैठ करवाने के कई रास्तों पर आतंकियों की नजर है। गत वर्ष घुसपैठ में आई कमी नियंत्रण रेखा पर सुरक्षाबलों गत वर्ष आतंकियों की घुसपैठ पर नकेल कस दी है।


    ये भी पढ़े-ट्रंप समर्थक और बाइडेन समर्थक एक दूसरे पर हुए हमलावर ,पुलिस झड़प में एक की मौत


    पाकिस्तान ने 5100 बार संघर्ष विराम तोड़ा 

    वर्ष 2019 में 141 आतंकियों ने घुसपैठ की थी तो 2020 में सिर्फ 44 आतंकी ही सुरक्षाबलों से नजर बचाकर घुसे। 2018 में 143 आतंकियों ने घुसपैठ की थी। 5100 बार संघर्ष विराम तोड़ा पाकिस्तान ने वर्ष 2020 में आतंकवादियों की घुसपैठ करवाने की सारी हदें पार कर दीं। करीब 5100 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। यह वर्ष 2003 के बाद पहली बार इतनी अधिक बार पाकिस्तान ने गोलाबारी की है। 



    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें




    %25E0%25A4%25B5%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25AC%25E0%25A4%25B8%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2587%25E0%25A4%259F%2B%25E0%25A4%25B2%25E0%25A5%258B%25E0%25A4%2597%25E0%25A5%258B


    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad