Haider Aid


 

  • Breaking News

    पटना हाईकोर्ट में 9 महीने बाद4 जनवरी से आमने-सामने की सुनवाई शुरू

     



    We News 24 Hindi »पटना/बिहार 
    अमिताभ मिश्रा की रिपोर्ट 


    पटना : पटना हाईकोर्ट में सोमवार  4 जनवरी से आमने-सामने की सुनवाई  शुरू हो रही है। इसमें वकीलों को कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़ेगा। हाईकोर्ट प्रशासन ने वकीलों के लिए ढाई सौ कुर्सियां लगवा दी हैं। साथ-साथ 12 न्याय कक्ष को वेटिंग कोर्ट में तब्दील कर दिया गया है। वकीलों को कोर्ट में आने के लिए हाईकोर्ट के कम से कम दो गेट खुले रहेंगे। वकीलों की समस्याओं को सुलझाने के मद्देनजर रविवार (3 जनवरी) को पटना हाईकोर्ट के न्यायाधीश ए अमानुल्लाह एवं न्यायाधीश राजीव रंजन प्रसाद ने सम्मिलित रूप से फिजिकल सुनवाई की तैयारियों का जायजा लिया। हाईकोर्ट प्रशासन से सारी कमियों को दूर कर देने को कहा।


    ये भी पढ़े-प्रचंड ने नेपाल में चीन को दिखाया ठेंगा, ओली के खिलाफ प्रचंड और तेज करेंगे आंदोलन


    हाईकोर्ट प्रशासन के साथ हुई बैठक


    मालूम हो कि कोरोना काल के खतरे को देखते हुए दस महीने बाद हाईकोर्ट में जज अपनी कुर्सी पर बैठेंगे और वकील उनसे मुखातिब होकर बहस करेंगे। वकीलों को आने वाली परेशानियों को देखते हुए दैनिक जागरण में तीन जनवरी को खबर छापी थी, जिसे गंभीरता से लिया गया। हाईकोर्ट के वकीलों को परेशानियों से बचाने के लिए तीनों एसोसिएशनों के पदाधिकारियों को हाईकोर्ट प्रशासन ने बुलाया था। वकील प्रतिनिधियों को बताया गया कि अनेक प्रकार की त्रुटियों और कमियों को दूर कर दिया गया है।

    ये भी पढ़े-पाकिस्तान सरकार ने ग्वादर पोर्ट की घेराबंदी का कार्य रोका,चीन के निवेश पर मंडराया खतरा


    जजों ने किया आग्रह


    तीनों संघों की समन्वय समिति के अध्यक्ष योगेश चंद्र वर्मा ने बताया कि फिलहाल हाईकोर्ट में ट्रायल सिस्टम पर फिजिकल कोर्ट लगाया जा रहा है। यदि सब ठीक रहा तो 15 दिन बाद से ही नियमित रूप से आमने-सामने अदालत चलने लगेगी। देश में पटना हाईकोर्ट ही फिजिकल कोर्ट लगाने में आगे रहा है। सभी जज एक साथ कोर्ट करने के लिए तैयार हो गए, लेकिन वकीलों से आग्रह किया कि सारी सावधानी के साथ सिर्फ वही लोग कोर्ट में आएं जिनका मुकदमा सूचीबद्ध हो। वकील प्रतिनिधियों में लॉयर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय कुमार ठाकुर, महासचिव राजीव कुमार सिंह, बार एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय सिंह, एडवोकेट एसोसिएशन के उपाध्यक्ष पुरुषोत्तम कुमार दास आदि शामिल थे।




    25 केस ही प्रतिदिन फिजिकल सुनवाई के लिए लिस्ट होंगे


    इस व्यवस्था के तहत हर जज के कोर्ट में 25 केस ही प्रतिदिन फिजिकल सुनवाई के लिए लिस्ट होंगे. कोर्ट में सुनवाई के दौरान सीमित संख्या में ही लोग और वकील रह सकेंगे. पटना हाईकोर्ट में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के उपाय के लिए लगभग नौ माह तक वर्चुअल कोर्ट के माध्यम से सुनवाई की गई थी. अभी भी जो फिजिकल कोर्ट के सुनवाई की व्यवस्था की गई है उसमे वकीलों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है.


    वकीलों को सुनवाई से पहले अनेक प्रकार से जांच का सामना करना पड़ेगा. वकीलों को सुनवाई के बहुत पहले कोर्ट पहुंचना होगा.

     



    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें




    %25E0%25A4%25B5%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25AC%25E0%25A4%25B8%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2587%25E0%25A4%259F%2B%25E0%25A4%25B2%25E0%25A5%258B%25E0%25A4%2597%25E0%25A5%258B

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad