Haider Aid

  • Breaking News

    शिवसेना ने पेट्रोल, डीजल गैस की कीमतों को लेकर मोदी सरकार और अक्षय अमिताभ पर जमकर निशाना साधा





    We News 24 Hindi » मुंबई

    अनिल पाटिल  की रिपोर्ट


    मुंबई : तेल और रसोई गैस की दामो में लगातार वृद्धि से देश की जनता परेशान है केंद्र सरकार के खिलाफ लगातार विपक्षी दल हमला कर रहे है इसी क्रम में  बढ़ोतरी  शिवसेना के मुख्यपत्र  सामना में एक लेख लिखकर केंद्र सरकार के साथ-साथ  अक्षय कुमार और अमिताभ बच्चन पर कटाक्ष किया है। सामना में लिखा गया कि आज पेट्रोल की कीमत शतक मार चुकी हैं और डीजल 90 के पार पहुंच गया है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें लगातार गिर रही हैं, लेकिन इसका लाभ देश की जनता को नहीं मिल रहा है?


    ये भी पढ़े-VIDEO:दिल्ली हिंसा के आरोपी ताहिर हुसैन के अवैध बिल्डिंग गिराने के लिए कपिल मिश्रा ने दिल्ली के उपराज्यपाल को लिखा पत्र


    शिवसेना ने आगे लिखा कि इस मुद्दे पर जो बोलेगा, उसे देशद्रोही कहा जाएगा। यही नहीं, लेख में आगे लिखा गया कि 2014 से पहले अक्षय कुमार और अमिताभ बच्चन जैसे कई अभिनेताओं ने तेल की बढ़ती कीमतों पर अपनी राय रखी थी लेकिन अब पेट्रोल के 100 के पार होने के बाद भी ये सेलिब्रिटी चुप क्यों हैं? 



    यही नहीं, सामना में मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा गया है। शिवसेना ने लिखा कि मोदी सरकार ने इंडियन ऑयल, ओएनजीसी, भारत पेट्रोलियम, हिंदुस्तान पेट्रोलियम जैसे सार्वजनिक उपक्रमों को बेचने की योजना बनाई और अब तेल की कीमतों में वृद्धि का ठीकरा पहले की सरकार पर फोड़ रहे हैं।


    ये भी पढ़े-लाहौल के लिए 35 वर्षों में पहली बार नहीं हुई हेलीकॉप्टर उड़ान,जाने वजह


    सामना में लिखा गया कि अप्रैल 2014 में अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 108 डॉलर्स प्रति बैरल थी लेकिन पेट्रोल की कीमत 71 रुपये और डीजल 58 रुपये प्रति लीटर मिलता था। लेकिन आज अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का भाव 62 डॉलर्स प्रति बैरल है लेकिन पेट्रोल शतक मार चुका है और डीजल की कीमत 90 रुपये प्रति लीटर के पार है। 


    सामना में अक्षय कुमार और अमिताभ बच्चन जैसे अभिनेताओं के चुप रहने पर भी सवाल किया गया है। बता दें कि 2014 से पहले पेट्रोल और डीजल के बढ़ते भाव पर सोशल मीडिया के जरिए ये बॉलीवुड हस्ती अपने विचार प्रकट करती थीं। शिवसेना ने कहा कि अब ये लोग इसलिए चुप हैं क्योंकि इन्हें चुप कराया गया है। 


    ये भी पढ़े-गाजियाबाद में आपको पहले आओ-पहले पाओ के आधार मिल सकता है इन 10 स्कीम में मकान


    इसके अलावा सामना में लिखा गया कि पहले की सरकारों में विचार प्रकट करने और टिप्पणी करने की स्वतंत्रता थी। सामना में लिखा गया कि जहां किसान आंदोलन का समर्थन करने की आजादी नहीं है, वहां पेट्रोल-डीजल के खिलाफ सेलिब्रिटी अपनी आवाज उठाएंगे, इसकी उम्मीद भी नहीं करनी चाहिए। 


    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें




    %25E0%25A4%25B5%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25AC%25E0%25A4%25B8%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2587%25E0%25A4%259F%2B%25E0%25A4%25B2%25E0%25A5%258B%25E0%25A4%2597%25E0%25A5%258B


     

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad