Haider Aid

  • Breaking News

    पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह के लेटर बाद महाराष्ट्र की राजनीति में भूचाल ,BJP ने मांगे अनिल देशमुख का इस्तीफा

     






    We News 24 Hindi » मुंबई
    रघु जाधव  की  रिपोर्ट


    मुंबई : के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के शनिवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को भेज गृह मंत्री अनिल देशमुख पर लगाए सनसनीखेज आरोपों के बाद महाराष्ट्र की राजनीति में भूचाल आ गया है। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने महाराष्ट्र की उद्धव सरकार पर हमला बोलते हुए गृह मंत्री अनिल देशमुख का इस्तीफा मांगा है। राज्य में बीजेपी के नेता देवेंद्र फडणवीस, किरीट सोमैया, राम कदम समेत कई नेताओं ने एक सुर में अनिल देशमुख से तुरंत ही पद छोड़ने को कहा है। हालांकि, परमबीर सिंह के सभी आरोपों को खारिज करते हुए अनिल देशमुख का कहना है कि सचिन वाझे और एंटीलिया मामले में परमबीर सिंह खुद के फंसने का भी डर सता रहा है।

     ये भी पढ़े-मुंबई पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह का सनसनीखेज खुलासा -गृह मंत्री अनिल देशमुख ने सचिन वाझे को 1 100 करोड़ उगाही का दिया था हर महीने का टारगेट


    ये भी पढ़े-सीतामढ़ी जिले डकैतों का आतंक ,पूर्व फौजी के घर में 6 लाख का डाका

    बीजेपी ने देशमुख से की इस्तीफे की मांग

    महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने गृह मंत्री अनिल देशमुख से इस्तीफे की मांग की है। उन्होंने चिट्ठी सामने आने के बाद प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि हम गृह मंत्री का इस्तीफा मांगते हैं। उन्होंने कहा, ''अगर वह नहीं देते हैं तो मुख्यमंत्री को उन्हें पद से हटा देना चाहिए। इस मामले की निष्पक्ष जांच की जानी चाहिए। लेटर में यह भी लिखा है कि मुख्यमंत्री को जानकारी दी गई थी, तो आखिर में उन्होंने कोई कार्रवाई क्यों नहीं की?'' वहीं, बीजेपी नेता राम कदम ने अंदेशा जताया है कि अन्य विभागों के मंत्रियों ने भी वसूली का आदेश दिया होगा। कदम ने कहा कि 16 महीने से महाराष्ट्र में ठाकरे की सरकार है, इस तरह 1600 करोड़ रुपये हो गए। कई जिले और कई शहर हैं, वहां से भी कई करोड़ रुपये के लिए कहा गया होगा। पुलिस डिपार्टमेंट एक डिपार्टमेंट है। उसी प्रकार 22 विभाग हैं तो क्या हर मंत्री ने अपने विभागों को वसूली करने के आदेश दिए हैं। सरकार जनता की रक्षा के लिए होती है, लेकिन तीन दलों की सरकार ने जनता का शोषण करने को कहा। इतना घिनौना काम कभी भी नहीं हुआ। अगर थोड़ी भी शर्म बची है तो जिम्मेदार मंत्री तुरंत इस्तीफा दे दें।

    ये भी पढ़े-पटना डीएम ने पुलिस अधिकारियों से शराब बंदी को सफल बनाने के लिए छापे की कार्रवाई तेज करने को कहा

    गृह मंत्री अनिल देशमुख ने खारिज किए सभी आरोप

    मामला सामने आते ही अनिल देशमुख ने ट्वीट कर खुद पर लगाए गए सभी आरोपों को खारिज कर दिया। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि सचिन वाझे का एंटीलिया और मनसुख हिरेन मामले में डायरेक्ट लिंक सामने आया है। परमबीर सिंह को डर है कि यह कनेक्शन उनके तक भी पहुंच सकता है। उन्होंने गलत आरोप लगाकर खुद को कानूनी कार्रवाई से बचाने की कोशिश की है। मालूम हो कि देश के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के पास से पिछले महीने विस्फोटक से लदी हुई स्कॉर्पियो गाड़ी बरामद हुई थी। कुछ दिनों के बाद में स्कॉर्पियो गाड़ी के मालिक मनसुख हिरेन की लाश मिली थी, जिसके बाद दोनों मामलों की जांच एनआईए कर रही है। एनआईए ने सचिन वाझे को गिरफ्तार किया है। वहीं, मुंबई पुलिस कमिश्नर के पद से परमबीर सिंह को भी हटा दिया गया।


    परमबीर सिंह ने सीएम उद्धव को लेटर लिख लगाए क्या-क्या आरोप?

    पूर्व मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने लेटर में जिस-जिस बात का जिक्र किया है, उससे हड़कंप मच गया है। परमबीर सिंह का आरोप है कि गृह मंत्री अनिल देशमुख ने सचिन वाझे को हर महीने 100 करोड़ रुपये की मुंबई से वसूली करने का टारगेट दिया था। ये वसूली उन्हें शहर के विभिन्न रेस्टोरेंट्स, बार से करनी थी। उन्होंने आरोप लगाया कि गृह मंत्री देशमुख ने वाझे को बताया कि मुंबई में तकरीबन 1750 बार, रेस्टोरेंट्स आदि हैं। यदि हर से 2-3 लाख रुपये हर महीने लिए जाएं तो यह 40-50 करोड़ रुपये हो सकता है। बाकी की रकम अन्य जगहों से जुटाई जा सकती है।



    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें




    %25E0%25A4%25B5%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25AC%25E0%25A4%25B8%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2587%25E0%25A4%259F%2B%25E0%25A4%25B2%25E0%25A5%258B%25E0%25A4%2597%25E0%25A5%258B



    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad