Haider Aid

  • Breaking News

    भूमि सुधार एवं राजस्व विभाग में संविदाकर्मियों की नौकरी नहीं होगी स्थाई

     



    We News 24 Hindi » पटना 
    राजकुमार की  रिपोर्ट

    पटना : भूमि सुधार एवं राजस्व विभाग में संविदा पर कार्यरत कर्मियों को राज्य सरकार स्थाई नहीं करेगी। राजस्व विभाग में लंबे अरसे से संविदा पर काम करने वाले कर्मियों की सेवा स्थाई करने की मांग को लेकर आज विधानसभा में पूछेे गए सवाल के जवाब में विभागीय मंत्री रामसूरत राय ने कहा कि सरकार संविदा कर्मियों की सेवा स्थाई करने नहीं जा रही है। अमीनों की बहाली की प्रक्रिया चल रही है और इसमें संविदा कर्मियों को वेटेज दिया जा रहा है। 

    ये भी पढ़े-महाराष्ट्र में बढ़ता जा रहा है कोरोना का खतरा ,पालघर जिले में अगले आदेश तक सभी स्कूल, कॉलेज, हॉस्टल बंद

    संविदा कर्मियों के स्थाई नियुक्ति को लेकर सवाल का जवाब देते हुए मंत्री रामसूरत राय ने कहा कि अमीनों की बहाली प्रक्रिया में संविदा पर काम करने वाले कर्मियों को 5 साल तक सेवा पर वेटेज दिया जा रहा है, लेकिन उनकी सेवा नियमित करने का कोई प्रस्ताव सरकार के पास नहीं है। सरकार की तरफ से विधानसभा में यह जवाब आने के बाद विपक्षी सदस्यों ने मांग रखी कि 10 साल तक सेवा करने वाले संविदा कर्मियों को वेटेज दिया जाए। 

    ये भी देखे-यश कुमार और पूनम दुबे की फ़िल्म 'पारो' का धांसू ट्रेलर आउट

    इसपर सरकार की तरफ से कहा गया कि 5 साल से ज्यादा का वेटेज नियमित बहाली प्रक्रिया में नहीं दिया जा सकता. विपक्ष ने कहा कि जिन लोगों ने 10 साल तक अपना बहुमूल्य समय संविदा पर काम करते हुए विभाग को दिया, उनके साथ अन्याय नहीं किया जाना चाहिए। इसपर सरकार ने स्पष्ट किया कि 5 साल संविदा पर काम करने वाले कर्मियों को वेटेज दिया जा रहा है। इसपर विपक्ष ने आरोप लगाया कि समान डिग्री वालों को अमीन बहाली प्रक्रिया के तहत नियुक्ति देने की तैयारी है, जबकि जिन्होंने अमीन की डिग्री ले रखी है, सरकार उन्हें तरजीह नहीं दे रही है।


    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें




    %25E0%25A4%25B5%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25AC%25E0%25A4%25B8%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2587%25E0%25A4%259F%2B%25E0%25A4%25B2%25E0%25A5%258B%25E0%25A4%2597%25E0%25A5%258B



    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad