Haider Aid


 

  • Breaking News

    पाकिस्तान आतंक का पनाहगाह , ब्रिटेन आतंकवादी वित्तपोषण की 'विशेष सूची' में की शामिल, इमरान सरकार दे रही है सफाई





    We News 24 Hindi »इस्लामाबाद,पाकिस्तान 
    राजकुमार की  मिडिया रिपोर्ट 

    पाकिस्तान : ने ब्रिटेन से इस्लामाबाद के खिलाफ राजनीतिक रूप से प्रेरित और गलत उपायों को नहीं उठाने को कहा है। दरअसल, ब्रिटेन ने पाकिस्तान को उन 21 देशों की सूची में शामिल किया है, जो मनी लॉन्ड्रिंग (Money Laundring) और आतंकी वित्तपोषण (Terror Financing) मामले से जुड़े हुए हैं। इससे पाकिस्तान की बौखालाहट बढ़ गई है और उसने कहा है कि उसका मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकी वित्तपोषण से कोई लेना-देना नहीं है। गौरतलब है कि पाकिस्तान को आतंकियों के लिए सुरक्षित पनाहगाह माना जाता है। 

    ये भी पढ़े-बंगाल में शहीद अश्विनी के घर पहुंचे डिप्टी सीएम और मंत्री , सरकार उनकी बच्चों की शिक्षा की जिम्मेदारी लेगी

    पड़ोसी मुल्क के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा, हमने पाकिस्तान सहित कुछ मुल्कों को लेकर ब्रिटेन द्वारा जारी मनी लॉन्ड्रिंग और आतंक वित्तपोषण (संशोधन) (उच्च जोखिम वाले देशों) विनियम 2021 को देखा है। ब्रिटेन द्वारा किया गया ये मूल्यांकन तथ्यों पर आधारित नहीं है। हम मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकी वित्तपोषण के विरोधी रहे हैं। हमें उम्मीद है कि ब्रिटेन तथ्यों के आधार पर अपने इस विनियम रिपोर्ट की समीक्षा करेगा और राजनीतिक रूप से प्रेरित और गलत उपायों से बचेगा।

    ये भी पढ़े-चुनाव आयोग के खिलाफ ममता बनर्जी धरने पर बैठीं

    मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकी वित्तपोषण के मामले पर कसी नकेल

    आतंक के पनाहगाह पाकिस्तान ने अपनी तरफ से सफाई पेश करते हुए कहा, पिछले दो सालों में पाकिस्तान ने कानूनी, संस्थात्मक और प्रशासनिक रूप से महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। इन कदमों के जरिए मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकी वित्तपोषण के मामलों पर नकेल कसी गई है। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान आतंक का समर्थन नहीं करता है। हालांकि, वो ये बताना जरूर भूल गया कि इसके देश में आतंकी खुलेआम घूमते हुए भी नजर आ जाते हैं।

    भी पढ़े-पीएमसीएच को कोरोना संक्रमण की जांच और आवश्यक मशीनों की खरीद के लिए ₹ 1.5 करोड़ मिले

    FATF की ग्रे लिस्ट में शामिल है पड़ोसी मुल्क

    विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान द्वारा उठाए गए कदमों का नतीज है कि FATF ने इसकी जानकारी यूरोपियन यूनियन को दी। अंतरराष्ट्रीय बिरादरी भी इस बात को जानती है कि इस्लामाबाद ने आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई की है। पाकिस्तान द्वारा FATF के 27 बिंदुओं में से 24 को पूरा करना ये दिखाता है कि पाकिस्तान आतंक वित्तपोषण और मनी लॉन्ड्रिंग को रोकने की दिशा में ठोस कदम उठा रहा है। हालांकि, पाकिस्तान अभी भी FATF की ग्रे लिस्ट में बना हुआ है। 


    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    %25E0%25A4%25B8%25E0%25A5%259E%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25A6

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad