Haider Aid


 

  • Breaking News

    पाकिस्तान की सड़कों पर खुनी संघर्ष में सात लोगों की मौत 300 से अधिक पुलिसकर्मी घायल




    We News 24 Hindi » इस्लामाबाद , पाकिस्तान

    मिडिया रिपोर्ट

    इस्लामाबाद : पाकिस्तान में एक बार फिर गृहयुद्ध का हालात बना हुआ हैं. पाकिस्तान की सड़कों पर दिन दिनों से कट्टर इस्लामी पार्टी के समर्थक हिंसक झड़प और आतंक मचाए हुए हैं. खूनी जंग में अब तक सात लोगों की मौत हो चुकी है वहीं सैकड़ों लोग घायल बताए जा रहे हैं. पाकिस्तान में हो रही हिंसा की वजह फ्रांस की पत्रिका में पिछले साल पैगंबर मोहम्मद के छपे वह विवादित कार्टून हैं, जिसे लेकर इमरान सरकार को फ्रांस के राजदूत को वापस भेजे जाने को लेकर कट्टरपंथी इस्लामिक पार्टी तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान ने डेडलाइन दी थी. पार्टी के प्रमुख साद हुसैन रिज्वी की गिरफ्तारी ने पाकिस्तान में गृहयुद्ध जैसे हालात पैदा कर दिए. 

    ये भी पढ़े-पंजाब के फरीदकोट से दिल दहलाने वाली खबर ,हत्यारे ने बुजुर्ग का सर काटकर अपने साथ ले गया

    एजेंसी के मुताबिक, कट्टर इस्लामी पार्टी के समर्थकों की गुंडई को देखते हुए पाकिस्तान ने तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान के समर्थकों की लगातार तीसरे दिन कानून प्रवर्तन अधिकारियों के साथ झड़प के बाद बुधवार को आतंकवाद अधिनियम के तहत उस पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय किया. इन झड़पों के दौरान सात लोगों की मौत हो चुकी है और हुए हैं. सड़कों पर लोगों को हुजूम दिख रहा है. सोशल मीडिया पर भी काफी ट्रेंड हो रहा है.

    ये भी पढ़े-इस समय की बड़ी खबर, चारा घोटाला में लालू प्रसाद यादव को मिली जमानत, जेल से बाहर आने का रास्ता साफ

    गृह मंत्री शेख राशिद ने पत्रकारों से कहा कि तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) को 1997 के आतंकवाद रोधी अधिनियम के नियम 11-बी के तहत प्रतिबंधित किया जा रहा है. उन्होंने कहा, 'मैंने टीएलपी पर प्रतिबंध लगाने के लिये पंजाब सरकार द्वारा भेजे गए प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है.' अहमद ने कहा कि बीते दो दिन में प्रदर्शनकारियों के साथ झड़पों में कम से कम दो पुलिस अधिकारियों की मौत हो चुकी है और 340 से अधिक घायल हुए हैं. 








     

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad