Haider Aid


 

  • Breaking News

    कोरोना की दूसरी लहर का चक्र तोड़ने के लिए एक बार फिर भारत लॉकडाउन की और



    We News 24 Hindi »नई दिल्ली 

    अमित मेहलावत  की रिपोर्ट 


    नई दिल्ली :  कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने पूरे देश में तबाही मचा रखा है अभी तक पहली बार ऐसा हुआ है, की  भारत में एक ही दिन में 2.60 लाख से अधिक कोरोना के केस सामने आ रहा हैं। कोरोना की इस बढ़ती  भयावह रफ्तार को देखते हुए लगता  एक बार फिर से देश लॉकडाउन की और जा रहा है । अभी फिलहाल, देश की करीब 57 फीसदी आबादी पाबंदियों की जद में है, मगर जिस तरह से कोरोना पर लगाम नहीं लग रहा है , तो सरकार के पास एक ही  विकल्प  बचता है लॉकडाउन का । इसको लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने साफ कर दिया है कि जल्दबाजी में देश में  लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा और फिलहाल ऐसी स्थिति भी नहीं दिख रही है। 

    ये भी पढ़े-पाकिस्तान की सड़कों पर खुनी संघर्ष में सात लोगों की मौत 300 से अधिक पुलिसकर्मी घायल

    दरअसल, इंडियन एक्सप्रेस को दिए गए एक इंटरव्यू में अमित शाह से पूछा गया कि  पिछले साल की तरह, कोरोना को नियंत्रित करने के लिए क्या लॉकडाउन ही विकल्प है? शाह ने कहा- हम कई स्टेकहोल्डर्स के साथ चर्चा कर रहे हैं। शुरू में लॉकडाउन का उद्देश्य अलग था। हम बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर और उपचार की रेखा तैयार करना चाहते थे। तब हमारे पास कोई दवा या टीका नहीं था। अब स्थिति अलग है। फिर भी, हम मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा कर रहे हैं। आम सहमति जो भी हो, हम उसी के अनुसार आगे बढ़ेंगे। मगर जलदबाज़ी में लॉकडाउन करने जैसी स्थिति नहीं दिख रही।

    ये भी पढ़े-पंजाब के फरीदकोट से दिल दहलाने वाली खबर ,हत्यारे ने बुजुर्ग का सर काटकर अपने साथ ले गया

    इससे पहले कोरोना की पहली लहर के दौरान कई पहल हुईं। आपातकाल वाली चीजें अब नहीं है? इसपर वह बोले- यह सच नहीं है। मुख्यमंत्रियों के साथ दो बैठकें हुईं और मैं भी मौजूद था। अभी, राज्य के राज्यपालों के साथ एक बैठक हुई थी। सरकारों के समर्थन के लिए सामाजिक क्षेत्र में शेयरहोल्डर्स  को आगे बढ़ाने के लिए हमारी बैठक हुई है। टीकाकरण के मोर्चे पर वैज्ञानिकों के साथ बात हुई है और चिकित्सा प्रोटोकॉल में सुधार के लिए एक बैठक हुई है। इससे लड़ने की तैयारी पूरी तरह से की जा रही है। इस समय संक्रमण की गति इतनी अधिक है कि यह लड़ाई थोड़ी मुश्किल है। लेकिन मुझे भरोसा है कि इस पर हमारी जीत होगी।


    इंटरव्यू में गृहमंत्री से पूछा गया कि- कोरोना के नए वैरिएंट को अधिक भयानक बताया जा रहा है। क्या आप इसके बारे में चिंतित हैं? उन्होंने कहा कि- हर कोई चिंतित है। मुझे भी इसकी चिंता है। हमारे वैज्ञानिक इससे लड़ने के लिए काम कर रहे हैं। मुझे भरोसा है कि हम जीतेंगे।  मुझे लगता है कि उछाल मुख्य रूप से वायरस के नए म्यूटेंट के कारण है। कई देशों में उछाल देखा जा रहा है। वैज्ञानिक इसका अध्ययन कर रहे हैं और इस पर एक निष्कर्ष समय से पहले होगा। 


    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    %25E0%25A4%25B8%25E0%25A5%259E%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25A6


    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad