Header Ads

  • Breaking News

    नव बिहार टाइम्स के 33 वें स्थापना दिवस के अवसर पर डा. नम्रता आनंद को मिला सम्मान



    We%2BNews%2B24%2BBanner%2B%2B728x90


    We News 24 Digital» रिपोर्टिंग / पटना ब्यूरो 

    We%2BNews%2B24%2BBanner%2B%2B728x90


    We News 24 Digital» पटना ब्यूरो

    पटना, 23 जून राजकीय-राष्ट्रीय सम्मान से अंलकृत समाज सेविका डा. नम्रता आनंद को शिक्षा और पर्यावरण के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगादान देने के लिये हिंदी दैनिक नवबिहार टाइम्स के 33 वें स्थापना दिवस के अवसर पर सम्मानित किया गया।

    बिहार के औरंगाबाद शहर के टाउन हॉल में नवबिहार टाइम्स का 33 वां स्थापना दिवस धूमधाम के साथ मनाया गया।  इस अवसर पर देशभर के विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय भूमिका निभाने वाली हस्तियों को सम्मानित किया गया। शिक्षा और पर्यावरण के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान देने के लिये डा. नम्रता आनंद को सम्मानित किया गया। डा. नम्रता आनंद को यह सम्मान औरंगाबाद के सांसद सुशील कुमार सिंह ने दिया। 

    ये भी पढ़े-मुजफ्फरपुर जिले में चोरो का आतंक एक बार फिर लाखों का माल समेट हुए फरार।

      डा. नम्रता आनंद ने कमल किशेर को नवबिहार टाइम्स की  स्थापना के 33 साल पूरे होने पर बधाई एवं शुभकामना दी। उन्होंने कहा कि मीडिया को ‘‘चौथे स्तंभ’’ के रूप में जाना जाता है। आम जनता को जागरूक करने में मीडिया ने महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है। मीडिया यदि सकारात्मक भूमिका अदा करें तो किसी भी व्यक्ति, संस्था, समूह और देश को आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक एवं राजनीतिक रूप से समृद्ध बनाया जा सकता है। नवबिहार टाइम्स ने पत्रकारिता के उंचे मापदंडो को कायम रखा है और कमल  किशोर जी इसके लिये बधाई के पात्र हैं।

    ये भी पढ़े-बिहटा भाजपा ग्रामीण मंडल के द्वारा श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस के अवसर पर वृक्षारोपण किया गया।।

     गौरतलब है कि डा. नम्रता आनंद सामाजिक संगठन दीदीजी फाउंडेशन की संस्थापिका और जीकेसी बिहार की प्रदेश अध्यक्ष हैं। डा. नम्रता आनंद शिक्षा- महिला सक्तीकरण और पर्यावरण संरक्षण में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। उन्हें बिहार में पर्यावरण लेडी के नाम से भी जाना जाता है। डा. नम्रता आनंद को 2004 में राष्ट्रीय विकास और सामाजिक सेवा में किये गये उत्कृष्ठ कार्य के लिये राष्ट्रीय यूथ अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है। वर्ष 2008 में डा. नम्रता आनंद ने दीदीजी फाउंडेशन की नीवं रखी, जिसके बैनर तले उन्होंने जल जीवन हरियाली, बेटी पढ़ाओं बेटी बचाओ, पर्यावरण, स्वच्छता, तंबाकू विरोधी अभियान, साक्षरता, रक्तदान, पल्स पोलिया प्रतिरक्षण, कोरोना जागरूकता, महिला सशक्तीकरण, विकलांगों के पुर्नवास समेत कई सामाजिक कार्य किये जिसके लिये उन्हें राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति मिली। वर्ष 2019 में डा. नम्रता आनंद को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार के सर्वश्रेष्ठ शिक्षक का राजकीय सम्मान भी दिया। 


    इनसब के साथ डा. नम्रता आनंद सामाजिक संगठन रोटरी क्लब में भी सक्रिय भूमिका निभाती रही हैं। वर्ष 2021 में डा. नम्रता आनंद ने कुरथौल के फुलझड़ी गार्डेन में संस्कारशाला की स्थापना की। संस्कारशाला के माध्यम से गरीब और स्लम एरिया के बच्चों का नि.शुल्क शिक्षा, संगीत, सिलाई-बुनाई और डांस का प्रशिक्षण दिया जाता है। पर्यावरण लेडी आफ बिहार के रूप में चर्चित हो रही डा. नम्रता आनंद बक्सवाहा के जंगल को बचाने की मुहिम में भी जुड़ी हुई है। 

    इस आर्टिकल को शेयर करे .


    Header%2BAidWhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें .

    कोई टिप्पणी नहीं

    कोमेंट करनेके लिए धन्यवाद

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad