Header Ads

  • BREAKING NEWS

    सुरसंड के अमर शहीद राम लखन गुप्ता एवं सुंदर खतवे का सहादत समारोह संपन्न


    We News 24 Hindi »सीतामढ़ी/बिहार

    असफाक खान की रिपोर्ट 

    सीतामढ़ी :शहीद रामफल मंडल विचार मंच सुरसंड के तत्वाधान में सुरसंड के आजादी की लड़ाई में अमर शहीद राम लखन गुप्ता एवं सुंदर खतवे का शहादत दिवस समारोह रानी मंदिर सुरसंड के प्रांगण में मनाया गया। समारोह की अध्यक्षता कार्यक्रम संयोजक राजेश पटेल ने किया।


     समारोह को दीप प्रज्वलित कर शहीदों के चित्र पर माल्यार्पण कर उद्घाटन करते हुए शोभित राउत , पूर्व मुखिया ने कहां की राम लखन गुप्ता और सुंदर खतवे की शहादत सुरसंड वासियों के लिए गौरव की बात है। उन्होंने अपने महापुरुषों के बलिदान को पाठ्य पुस्तकों में शामिल कर नई पीढ़ी को बताने की आवश्यकता पर बल दिया।


     मुख्य अतिथि शहीद रामफल मंडल विचार मंच ‌के संयोजक सह शहीदों के शोधकर्ता बिनोद बिहारी मंडल ने कहा कि ,जंगे आजादी की लड़ाई में सुरसंड के क्रांतिकारियों की भुमिका अहम रही है।28 अगस्त 1942ई को सुरसंड के टावर चौक के पास अंग्रेजी पुलिस एवं आन्दोलनकारीओं के बीच हुए झरप में रामलखन गुप्ता, पुलिस की गोल से शहीद हो गये। अंग्रेजी हुकूमत ने बर्बरता का परिचय देते हुए सुंदर खतवे नामक युवक को जिन्दा पकड़ कर गले में रस्सी लगाकर ज़िन्दा ही फेर पर लटका कर फांसी दे दी गई।


     23 अगस्त 1943 ई को बाजपट्टी के रामफल मंडल को भागलपुर सेन्ट्रल जेल में फांसी हो गयी। 25 अगस्त 1942 ई को पुपरी के सहदेव साह, सुखदेव साह,गम्भीरा राय,रामबुझावन ठाकुर,चोरौत के भद ई कबाड़ी,29अगस्त को रीगा के मौजें झा, सुखराम महरा,ननू मियां, मथुरा मंडल,।30 अगस्त को बेलसंड तरियानी के वंशी ततमा,सुखन लोहार, गुगल धोबी,परसत तेली छठु कानू ,भूपन सिंह,नौजाद सिंह, जयमंगल सिंह,बिकन कुर्मी, बंगाली नूनिया,बुधन कहार,बुझावन चमार, सहित दर्जनों लोग शहीद हो गए।


     ये भी पढ़े-CBI पूछताछ में हुआ बड़ा खुलासा ,रिया चक्रवर्ती अपने और परिवार के हर छोटे मोटे खर्च सुशांत के बैंक खाते से करती थी

    उन्होंने शहीद रामफल मंडल सहित सभी शहीदों की जीवनी पाठ्य-पुस्तकों में शामिल करने,डाक टिकट जारी करने की मांग की। विशिष्ट अतिथि रमेश पटेल, जदयू उपाध्यक्ष, ने कहा कि,जो देश एवं समाज अपने महापुरुषों के इतिहास एवं बलिदान को भूल जाता है,वह गुलाम हो जाता है। उन्होंने सीतामढ़ी मेडिकल कॉलेज तथा इंजीनियरिंग कॉलेज का नाम सीतामढ़ी के शहीदों के नाम करने की मांग की।नसीबुल हक, जिला उपाध्यक्ष ने कहा कि , गुलामों को गुलामी का एहसास होते ही गुलाम , गुलामी की जंजीरों को तोर देता है। उन्होंने शहीदों की विरासत को संभालने के लिए युवाओं को आगे आकर शोध करने की अपील की।

    ये भी पढ़े-आखिर बिहार में अपराधियों में सीबीआई क्‍यों हो जाती है फेल ?,अनिल कुमार


       

     अरुण ठाकुर, जदयू प्रखंड अध्यक्ष, सुरसंड ने सुरसंड के शहीद रामलखन गुप्ता एवं सुन्दर खतवे की प्रतिमा मुख्य चौराहे पर स्थापित करने की मांग की। फेकन मंडल, कोआर्डिनेटर, आर्थिक आजादी ने कहा कि यह आजादी झुठी है,देश की जनता भुखी है।सभी वोटर को वोटर पेंशन लागूं करने की मांग की।समारोह को ,शम्भू सागर, बलिराम मंडल,संजय सदा,नीलू राउत,राकेश पटेल,लोकेश कुमार,इन्द्रजीत मंडल, कामेश्वर झा,किशुन राउत,मनीष मंडल,रणजीत साह,राकेश गिरी, रामचंद्र पाल,कृष्णकुमार साह,राजकुमार दास,नीरज मिश्र,राकेश मंडल,चन्देश्वर गुप्ता, सहित दर्जनों लोग ने श्रृद्धांजलि अर्पित की।
    पूर्व सैनिक अनिल कुमार

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें


    png

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad