Haider Aid


 

  • Breaking News

    बिहार की राजनीति में भूचाल ,नितीश कुमार ने कहा मुझे नहीं रहना है मुख्यमंत्री ,NDA जिसे चाहे मुख्यमंत्री बना दे




    We News 24 Hindi »पटना/बिहार
    अमिताभ मिश्रा की रिपोर्ट।

    पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने JDU के राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी  बैठक में एक  बड़ा बयान दिया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज ( 27 दिसंबर) को जदयू की राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में दो साफ-साफ में कहा कि मुझे अब मुख्यमंत्री नहीं रहना । NDA  गठबंधन जिसे चाहे बना दें मुख्यमंत्री। बीजेपी का ही मुख्यमंत्री हो । मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। मुझे किसी पद का लालच नहीं है। नीतीश कुमार के इस बयान ने बिहार की राजनीति में भूचाल पैदा कर दी है।


    ये भी पढ़े-सीतामढ़ी कमला गार्डन में कबड्डी एवं वॉलीबॉल मैच का किया गया आयोजन


    पद की चाहत नहीं, काम करने का दबाव था

    मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जदयू के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष के चुनाव के बाद बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने आगे कहा मुझे पद की कोई चाहत नहीं, इच्छा नहीं कि पद पर रहें। चुनाव परिणाम आने के बाद मैंने अपनी यह इच्छा गठबंधन के समक्ष जाहिर भी कर दी थी। पर दबाव इतना था कि मुझे फिर से काम संभालना पड़ा।नीतीश ने कहा कि हम स्वार्थ के लिए काम नहीं करते। आज तक हमने कभी किसी तरह का कोई समझौता नहीं किया।

    ये भी पढ़े-समस्तीपुर के दलसिंहसराय में तेज रफ्तार बाइक ने ली साइकिल सवार वृद्ध की जान ,लोगो ने किया सडक जाम


    छह के जाने के बाद भी एक विधायक डटा है


    अरुणाचल प्रदेश में जदयू के छह विधायकों के भाजपा में चले जाने के घटनाक्रम का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि क्या हुआ अरुणाचल में। छह के जाने के बाद भी वहां जदयू का एक विधायक डटा रहा। पार्टी की ताकत को समझिए। हमें सिद्धांतों के आधार पर ही लोगों के बीच जाना है। नफरत का माहौल बनाया जाता है । हमलोग नफरत के खिलाफ हैं। एक-एक काम लोगों के हित के लिए किया। सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को गुमराह किया जा रहा। वह चाहेंगे कि अच्छी बातें सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों के बीच प्रचारित हो। समाज में किसी तरह का मतभेद नहीं हो।


    ये भी पढ़े-बिहार सरकार ने समस्तीपुर को दिया नए साल का तोहफा, समस्तीपुर को मिला नगर निगम का दर्जा

     


    पार्टी छोड़ा नहीं, अब भी करते रहेंगे काम

    राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से खुद को मुक्त किए जाने की बात भी अपने संबोधन के क्रम में उन्होंने विस्तार से रखी। उन्होंने कहा कि हमने पार्टी छोड़ा नहीं है। रात-दिन पार्टी के काम में लगे रहते हैं। व्यस्तता की वजह से पार्टी के अध्यक्ष पद का काम ठीक से नहीं देख पा रहे थे। उनकी इच्छा है कि पार्टी के संगठन का विस्तार होना चाहिए। इसके लिए लोग दूसरे राज्यों में समय दें। इस दिशा में काफी काम होना चाहिए। मैंने जानबूझकर यह किया है ताकि ज्यादा से ज्यादा समय लोगों को दे सकें।


    जदयू ने कहा, बीजेपी ने अच्‍छा नहीं किया


    बता दें कि पटना में  जदयू की दो दिवसीय राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई। आज बैठक का दूसरा और अंतिम दिन था। इसके बाद जदयू के प्रधान महासचिव केसी त्‍यागी ने आज रविवार को एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर कहा कि जदयू ने अरूणाचल प्रदेश की घटना पर क्षोभ व्‍यक्‍त किया है। जदयू के छह विधायकों को भाजपा ने मंत्रिमंडल में शामिल करने की बजाय उन्‍हें अपने दल में ही शामिल कर लिया है। यह अच्‍छा नहीं किया । हमें इसपर बेहद दुख है। यह गठबंधन की राजनीति के लिए अच्‍छा संकेत नहीं है।


    माना जा रहा है कि नीतीश कुमार अरूणाचल प्रदेश की घटना से बेहद दुखी हैं। उनका यह ताजा बयान इसी घटना से जोड़कर देखा जा रहा है। 



    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें




    %25E0%25A4%25B5%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25AC%25E0%25A4%25B8%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2587%25E0%25A4%259F%2B%25E0%25A4%25B2%25E0%25A5%258B%25E0%25A4%2597%25E0%25A5%258B

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad