Haider Aid

  • Breaking News

    लड़की होकर स्कूटी से शराब पहुंचाती थी पटना की बुलबुल, फिर क्या हुआ...




    We News 24 Hindi » पटना ,बिहार
    अमिताभ मिश्रा  की  रिपोर्ट

    पटना : बिहार में शराबबंदी को कामयाब बनाने के लिए 5 साल से नीतीश कुमार मेहनत कर रहे हैं। 1 अप्रैल 2016 को शराबबंदी लागू हुआ था। नीतीश कुमार की कोशिशों पर शराब तस्कर पानी फेरने की फिराक में रहते हैं। पानी फेरते भी रहते हैं। पकड़े जाते हैं। जेल जाते हैं। जमानत पर आकर फिर शराब की तस्करी शुरू कर देते हैं। मगर पटना की बुलबुल की बात ही कुछ और है।

    बिहार में शराब की खपत, तब तो तस्करी?

    बिहार में शराब की होम डिलिवरी होती है, ऐसा विपक्ष के नेता आरोप लगाते हैं। आमलोगों के बात कीजिएगा तो वो शराब डिलिवरी की बात मानते भी है। शराब तस्कर न जाने किन-किन चीजों में शराब की बोतलें घुसाकर तस्करी करते हैं। बिहार में ट्रक के ट्रक शराब पकड़ी भी जाती है। राज्य में समानांतर शराब तस्करी का पूरा अर्थ-व्यवस्था डेवपल हो गया। मगर सवाल है कि बिहार में शराब की खपत है तो तब तो इसकी तस्करी हो रही है? वरना जिस चीज की खपत नहीं होगी तो उसकी तस्करी भला कोई क्यों करेगा? शराब तस्करी में इतना पैसा है कि किसी का भी मन डोल जाए। अधिकारी लेकर शराब के धंधेबाजों तक का मन डोल जाता है।


    DRY स्टेट वाले बिहार में शराब के साथ नशे के दूसरे सामानों की बिक्री पर भी रोक है। मगर आंकड़े इसे झुठलाते हैं। नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे (NFHS) के मुताबिक महराष्ट्र से ज्यादा बिहार में शराब की खपत है। NFHS के सर्वे में पता चला कि बिहार के ग्रामीण इलाकों में 14.05 फीसदी, जबकि महाराष्ट्र के ग्रामीण इलाकों में 13.9 फीसदी लोग शराब का सेवन करते हैं। बिहार के शहरी इलाकों में 15.8 फीसदी, वहीं महाराष्ट्र के शहरी इलाकों में 14.7 फीसदी लोग शराब पीते हैं। ये आंकड़ा तब है जब बिहार में 2016 से शराबबंदी लागू है। बिहार में तंबाकू का सेवन करनेवाले लोगों की संख्या भी महाराष्ट्र से ज्यादा है।

    शराब की बोतलों के साथ पकड़ी गई बुलबुल

    कई लोग तो मान कर चलते हैं कि 'नो रिस्क, नो गेन'। तो गेन करने के लिए बुलबुल ने भी रिस्क ले लिया। पहले तो पैदल शराब पहुंचाती थी। बाद में जब कस्टमर बढ़ गए तो साइकिल खरीद ली। बुलबुल का धंधा दिन दूना रात चौगना बढ़ने लगा। पैसे भी मुंहमांगा मिलने लगा।  भी एक से बढ़कर एक मिलने लगे। फिर उसके एक कस्टमर ने सलाह दी कि तुम स्कूटी खरीद लो। लड़की होने की वजह से कोई शक नहीं करेगा। फिर उसने स्कूटी खरीद ली। राजधानी पटना में बुलबुल की स्कूटी फर्राटे भरने लगी। इस गली से उस गली, एक मकान से दूसरा मकान। शराब की होम डिलिवरी कर बुलबुल ने खूब पैसा बनाया।

    उसके जानने वाले लोग हैरान-परेशान। सोचने रहते कि आखिर बुलबुल ने ऐसा क्या तीर मार दिया है। उस पर नोटों की बारिश हो रही है। बुलबुल का पूरा लाइफ स्टाइल ही बदल गया। उसके शौक बढ़ गए। तकरीबन हर शाम वो रेस्टोरेंट में खाना खाने लगी। पहले वो आम लड़कियों की तरह रहती थी। मगर उसके हाथ शराब की बोतल क्या लगी मानों उसे अल्लादीन का चिराग मिल गया। उसके लिए शराब की बोतल नहीं, बल्कि नोट छापने की मशीन हाथ लग गई। मगर कोई था जो बुलबुल पर नजर रख रहा था। उसने बुलबुल के बारे में पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस ने भी बुलबुल पर नजर रखना शुरू कर दिया। ऐसे किसी लड़की पर शक करना पुलिस को अच्छा नहीं लगा। पु्लिस भी चाहती थी कि बुलबुल को रंगेहाथ पकड़े। पु्लिस का मिशन कामयाब रहा। बुलबुल पुलिस के जाल में फंस गई।


    बुलबुल के हाईप्रोफाइल ग्राहकों की तलाश

    जिस स्कूटी से वो पटना के गली-मुहल्लों को रौंद डालती थी। उसी स्कूटी को पीरबहोर थाने की पुलिस ने चेक कर लिया। स्कूटी से शराब की 18 बोतलें मिली। वो अपने कस्टमर को शराब पहुंचाने जा रही थी। पीरबहोर इलाके के बिहारी साव लेन की रहनेवाली है। घरवालों को पता चला तो उनके होश उड़ गए। उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा था कि उनकी बेटी लोगों की डिमांड पर शराब पहुंचाने का काम करती थी।


    पटना में शराब तस्करी का ये पहला मामला है जिसमें किसी लड़की को शराब की बोतलों के साथ गिरफ्तार किया गया है। अब पुलिस बुलबुल के उन ग्राहकों की तलाश कर रही है, जिन्होंने बुलबुल के हाथों दी गई शराब का मजा लिया है। बुलबुल के फोन से उन कस्टमरों के नंबर खंगाले जा रहे हैं। इसके अलावा पुलिस इस बात का भी पता लगा रही है कि बुलबुल किस 'होलसेलर' के यहां से शराब उठाती थी। अगर पुलिस इमानदारी से पर्दा उठाए तो कई सफेदपोश चेहरों से नकाब उठ जाएगा।

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें




    %25E0%25A4%25B5%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25AC%25E0%25A4%25B8%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2587%25E0%25A4%259F%2B%25E0%25A4%25B2%25E0%25A5%258B%25E0%25A4%2597%25E0%25A5%258B

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad