Header Ads

  • Breaking News

    छठ पूजा को लेकर दिल्ली में आप और बीजेपी में छिड़ी सियासी जंग ,बीजेपी ने किया प्रदर्शन

     






    We%2BNews%2B24%2BBanner%2B%2B728x90We News 24» नई दिल्ली

    रिपोर्टिंग/ काजल कुमारी

    एडिट/ राहुल 




    नई दिल्ली: दिल्ली में इस बार छठ पूजा को लेकर सियासी जंग छिड़ी हुई है। दिल्ली सरकार ने कोरोना महामारी के मद्देनजर सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा की मनाही की है जिसका बीजेपी विरोध कर रही है। मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बाहर बीजेपी ने प्रदर्शन भी किया। इस दौरान सांसद मनोज तिवारी को हल्की चोटें भी आईं। दबाव बढ़ता देख दिल्ली सरकार ने भी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को खत लिखकर केंद्र के पाले में गेंद डाल दी है। जवाब में मनोज तिवारी ने केजरीवाल को खत लिख उन्हें हिंदू भावनाओं के सम्मान की नसीहत दी है।

    ये भी पढ़े-सोशल मीडिया पर वायरल हुआ भोजपुरी फिल्‍म ‘विवाह 2’ का फर्स्‍ट लुक, ट्रेलर होगा जल्‍द रिलीज


    क्यों शुरू हुआ विवाद

    दरअसल, दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (DDMA) ने 30 सितंबर को दिल्ली में कोरोना से जुड़ी नई गाइडलाइंस जारी की। गाइडलाइंस के मुताबिक दिल्ली में मंदिरों, तालाबों, नदियों या जलाशयों जैसे सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा नहीं मन सकेगी। पिछले साल भी कोरोना की वजह से दिल्ली में सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा नहीं हुई थी। उसी गाइडलाइंस में दशहरा और रामलीला को शर्तों के साथ इजाजत दी गई थी। एक त्योहार को इजाजत और एक त्योहार पर बैन ऐसी चीज है जो शायद ही पूर्वांचलियों को रास आए। यही वजह है कि बीजेपी ने इसे मुद्दा बनाने में देरी नहीं की और केजरीवाल सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया।

    ये  भी पढ़े-जिन स्कूलों में है महिला स्टाफ ,पुरुषों और प्रधानाचार्यों को खानी पड़ती है 'सैरीडॉन की गोली

    .com/daca_images/simgad/


    बीजेपी ने बनाया मुद्दा

    बीजेपी ने केजरीवाल सरकार को छठ पूजा पर लगी रोक हटाने की चेतावनी देते हुए आंदोलन का ऐलान कर दिया। मंगलवार को पार्टी ने केजरीवाल के घर के बाहर प्रदर्शन भी किया। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने ऐलान किया कि पार्टी भव्य छठ पूजा के लिए इंतजाम करेगी और पार्टी शासित तीनों नगर निगम इसकी व्यवस्था करेंगे। दिल्ली में बीजेपी के पूर्वांचली चेहरे मनोज तिवारी तो पूर्वांचलियों की राय लेने के नाम पर 'रथ यात्रा' भी शुरू कर दी।


    दिल्ली सरकार ने केंद्र के पाले में डाली गेंद

    शुरुआत में दिल्ली सरकार अपने रुख पर अड़ी रही। छठ पूजा पर रोक हटाने की विपक्ष की मांग को सीएम केजरीवाल ने गंदी राजनीति कहकर खारिज कर दिया था। लेकिन मुद्दा गरमाता देख उसकी चिंता बढ़ गई। राजनीतिक नुकसान से बचने के लिए दिल्ली सरकार ने चालाकी दिखाते हुए गेंद केंद्र के पाले में डाल दी। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को खत लिखकर दिल्ली में छठ पूजा को लेकर गाइडलाइंस जारी करने की मांग की है।

    ये भी पढ़े-आखिरकार SDRF की टीम को मिल ही गई सफलता 24 घण्टे बाद पानी में डूबे तीनों किशोर-किशोरियों का शव बरामद

    .com/daca_images/simgad/


    जवाब में मनोज तिवारी का केजरीवाल को खत

    दिल्ली सरकार की तरफ से केंद्र के पाले में गेंद डालने से भड़के बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को तल्ख लहजे में खत लिखा है। तिवारी ने आरोप लगाया कि छठ पूजा को लेकर दिल्ली सरकार गंभीर नहीं है वरना सितंबर में बैन लगाने के ऐलान से पहले ही केंद्र से गाइडलाइंस की मांग करती।

    केजरीवाल को लिखे खत में तिवारी ने कहा, '...मुझे बड़े दुख के साथ कहना पड़ता है कि आप लगातार हिंदू समाज की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का काम करते रहे हैं और दिल्ली में आप कट्टरपंथी मुस्लिम तुष्टीकरण के दोषी हैं...एक मुख्यमंत्री के तौर पर इस प्रकार से हिंदू विरोधी रुख अख्तियार करना आपको शोभा नहीं देता है। आपके कारण इस पद की गरिमा भी धूमिल हो रही है।'



    दिल्ली में क्यों अहम हैं पूर्वांचली वोटर

    दिल्ली में छठ पूजा पर राजनीति की वजह पूर्वांचलियों की अच्छी-खासी तादाद है। दरअसल, पूर्वी यूपी और बिहार से आने वाले लोगों को दिल्ली में पूर्वांचली ही कहा जाता है। राष्ट्रीय राजधानी में इनकी तादाद करीब 25 से 30 प्रतिशत है। यही वजह है कि कोई भी पार्टी इनकी नाराजगी मोल लेने का जोखिम नहीं उठा सकती।

    इस आर्टिकल को शेयर करे 

    Header%2BAidWhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें |

    कोई टिप्पणी नहीं

    कोमेंट करनेके लिए धन्यवाद

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad