Header Ads

  • BREAKING NEWS

    मौसम विभाग की चेतावनी,चक्रवाती तूफान का 11 और 12 अक्‍टूबर को इन राज्यों में दिखेगा असर

    We News 24 Hindi » नई दिल्ली  
    संवाददाता विवेक श्रीवास्तव

    नई दिल्ली : भारतीय मौसम विभाग ने इस सप्ताह 10 अक्तूबर तक दक्षिण और पूर्वोत्तर क्षेत्र में भारी बारिश का पूर्वानुमान व्यक्त किया है। दक्षिण पश्चिम मानसून की ज्यादा सक्रियता के कारण मध्य महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों, कर्नाटक, केरल, असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा के कुछ इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। छत्तीसगढ़, झारखंड, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और तेलंगाना के कुछ इलाकों में च्रकवाती हवाओं के साथ बारिश की आशंका व्यक्त की गई है। 




    10 के बाद लौटेगा मानसून
    आधिकारिक तौर पर दक्षिण पश्चिम मानसून केरल तट से दस्तक देने के बाद भारत में एक जून से 31 अगस्त तक सक्रिय रहता है। इसकी वापसी एक सितंबर से पश्चिमी राजस्थान से शुरू होती है और 30 सितंबर तक इसकी पूरे देश से वापसी हो जाती है। लेकिन इस बार इसकी वापसी में विलंब हो रहा है। मौसम विभाग ने विलंबित चल रहे दक्षिण पश्चिम मानसून की वापसी पूर्वी राजस्थान से 10 अक्तूबर के बाद शुरू होने की संभावना जताई है। मौसम संबंधी मानकों के मुताबिक दक्षिण पश्चिम मानसून की हर साल वापसी पश्चिमी राजस्थान से शुरू होती है।

    12 राज्यों में सामान्य से अधिक बारिश
    इसके लिए कम से कम पांच दिन तक बारिश नहीं होना अनिवार्य शर्त है। इसके मुताबिक अगले पांच दिनों तक उत्तरी क्षेत्र में बारिश नहीं होने पर मौसम विभाग दस अक्तूबर के बाद मानसून की वापसी शुरू होने की आधिकारिक घोषणा कर सकेगा। मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार पिछले एक सप्ताह में यूपी,जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, दिल्ली और राजस्थान सहित 12 राज्यों में सामान्य से अधिक बारिश हुई है। हरियाणा में सामान्य बारिश हुई है। हालांकि उत्तर और मध्य क्षेत्र के राज्य जून से सितबंर के दौरान सामान्य या सामान्य से कम बारिश के दायरे में थे। इसी तरह दक्षिण और पूर्वोत्तर के राज्यों में बारिश की कमी दर्ज की गई थी।



    एक से छह तक झमाझम
    पिछले तीन महीने से सक्रिय दक्षिण पश्चिम मानसून की बारिश की कमी को महसूस कर रहे उत्तर और मध्य भारत के इलाकों में बीते सप्ताह मानसून मेहरबान रहा। एक से छह अक्तूबर के दौरान जम्मू कश्मीर से लेकर राजस्थान तक लगभग सभी राज्यों में सामान्य से काफी अधिक बारिश दर्ज की गयी। अक्तूबर के पहले सप्ताह में राष्ट्रीय स्तर पर मानसून की सामान्य बारिश का स्तर 22.5 मिमी रहने का अनुमान व्यक्त किया था, लेकिन पूरे देश में इस अवधि में 22.1 मिमी (अनुमानित सामान्य स्तर से दो प्रतिशत कम) बारिश हुई।
    कुन्दन कुमार द्वारा किया गया पोस्ट 

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad