Header Ads

  • BREAKING NEWS

    भारत के इस गाँव के लोग अपनी प्यास बुझाने के लिए नेपाल से लकर आते पानी

    We News 24 Hindi »बेतिया,बिहार
    संवाददाता दीपक कुमार गुप्ता  की रिपोर्ट  

    पश्चिम चंपारण :के भिखनाठोरी गांव में सात निश्चय योजना की हवा निकल गई है।  इस गांव में सरकार की सात निश्चय की नल जल योजना पूरी तरह फेल है। एक वर्ष में ही निर्माण से विनाश तक की कहानी समाप्त हो गई। ग्रामीणों की परेशानी ज्यो कि त्यों बरकरार है। भिखनाठोरी के हर ग्रामीण अपने प्यास बुझाने के लिए पडोसी देश नेपाल से दो किलोमीटर की दूरी तय कर लेकर आते है पानी सालों से ग्रामीण इस समस्या से को झेल रहे है , इसके बावजूद स्थायी निदान के लिए सरकार के तरफ से प्रयास नहीं किया गया । 


    यह भी पढ़ें :बिहार पुलिस के दरोगा कारनामे ,महिला से की फोन पर की अश्लील भरी बाते ,महिला ने SP की शिकायत

     आपको बताते चले भारत-नेपाल सीमा पर बसे गौनाहा प्रखंड की धमौरा पंचायत के भिखनाठोरी की आबादी तकरीबन 800 है। पहाड़ी क्षेत्र होने से यहां पेयजल बड़ी चुनौती है। साधारण हैंडपंप काम नहीं करते। गांव के बगल में ही पंडई नदी बहती है। दैनिक कार्यों के लिए लोग इसका पानी उपयोग करते हैं।


    दो किलोमीटर सफर के बाद मिलता पानी
    भोजन व पीने के लिए पानी लाने दो किलोमीटर दूर नेपाल के ठोरी गांव जाते हैं। वहां अमृतधारा नामक पहाड़ी से बहने वाले पानी को भरकर लाते हैं।  वर्ष 2016 में पब्लिक हेल्थ इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट (पीएचईडी) ने पेयजल आपूर्ति के लिए तकरीबन 18 लाख खर्च कर दो सोलर पंप लगाए। 2017 की बाढ़ में एक बेकार हो गया। दूसरे में हमेशा कुछ न कुछ गड़बड़ी रहती है। ग्रामीण पुन्ना सिंह और मोती पासवान का कहना है कि विभाग ने टैंकर से पानी आपूर्ति की व्यवस्था की, मगर संवेदक को समय से भुगतान नहीं होने से वह भी ठप है। 


    यह भी पढ़ें :BREAKING:सहरसा के पूर्व मुखिया को दिनदहाड़े अपराधियों ने गोली मारकर हत्या


    मुखिया राम बिहारी महतो का कहना है कि हर घर नल का जल योजना के तहत भिखनाठोरी में एक साल पहले काम शुरू हुआ। पाइपलाइन बिछा दी गई है। टंकी भी लग गई है। जल्द पानी की सप्लाई शुरू हो जाएगी। भतूजला में इस योजना पर कार्य नहीं हुआ है। 
     सहायक अभियंता, पीएचईडी बालमुकुंद कुमार का कहना है कि बंद सोलर पंपों को जल्द चालू किया जाएगा। कर्मचारियों को निर्देश दिया गया है कि वे स्थल जांच कर अवगत कराएं। वहीं, प्रखंड विकास पदाधिकारी हरिमोहन कुमार कहते हैं कि जल्द समस्या का समाधान होगा। 

    अनिकेत शर्मा द्वारा किया गया पोस्ट 

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad