Header Ads

  • BREAKING NEWS

    हैदराबाद:पशु चिकित्सक से सामूहिक दुष्कर्म में बड़ा खुलासा

    We News 24 Hindi »हैदराबाद 

    हैदराबाद: में महिला पशु चिकित्सक से सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या के चारों आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। रंगा रेड्डी जिले की स्थानीय अदालत ने यह आदेश दिया। शादनगर बार एसोसिएशन ने भी घटना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। वकीलों ने महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या में शामिल चार आरोपियों को किसी भी तरह की कानूनी सहायता नहीं देने का फैसला किया है। पुलिस जांच में पता चला है कि इस जघन्य वारदात के एक आरोपी मोहम्मद आरिफ ने हैवानियत के दौरान पीड़िता का मुंह दबा रखा था ताकि उनकी चीखों को कोई सुन न सके। वह तड़पती रहीं और दरिंदे उनके साथ हैवानियत करते रहे। माना जा रहा है कि सांस नहीं ले पाने के कारण हैदराबाद की इस ‘निर्भया’ की मौत हो गई।

    ये भी पढ़े :नौबतपुर पुलिस ने 337 कार्टन विदेशी शराब किया बरामद,चालक व खलासी फरार

    पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनर ने बताया कि हैदराबाद में गुरुवार को महिला चिकित्सक से सामूहिक दुष्कर्म और हत्या की वारदात को पूर्व साजिश के तहत अंजाम दिया गया। बुधवार की शाम को ही चारों आरोपियों ने देखा कि महिला चिकित्सक टोल प्लाजा के पास स्कूटी खड़ी करके कैब से चली गईं। इसके बाद आरोपियों ने साजिश के तहत उनकी स्कूटी से हवा निकाल दी। रात करीब 9 बजे स्कूटी लेने के लिए महिला चिकित्सक वापस लौटीं तो देखा कि एक टायर में हवा नहीं है। इसी दौरान मोहम्मद आरिफ उनके पास मदद के बहाने पहुंचा और उसका एक हेल्पर शिवा स्कूटी को ठीक कराने के बहाने कुछ दूर ले गया। इसके बाद तीनों जबरन महिला चिकित्सक को पास के ही एक खाली प्लॉट में ले गए और जबरन गैंगरेप किया। स्कूटी दूर करने के बाद शिवा लौटा और उसने भी दुष्कर्म किया। इसके बाद आरोपी शव को एक ट्रक पर लादकर हाइवे पर कुछ आगे बढ़े और एक पेट्रोल पंप से पेट्रोल और डीजल खरीदा। रंगारेड्डी जिले के शादनगर में एक सुनसान जगह पर शव को फेंक दिया और पेट्रोल छिड़कर उसमें आग लगा दी।

    ये भी पढ़े :पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारा इच्छा मृत्यु मांग कि

    उधर, कोर्ट के आदेश के बाद इन आरोपियों को शादनगर पुलिस थाने से चंचलगुडा जेल पहुंचाया गया। मंडल के एग्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट ने शादनगर पुलिस थाने में चारों से पूछताछ की। चारों आरोपियों की पहचान मोहम्मद आरिफ, जोलू नवीन, चिंताकुंता केशावुलु और जोलू शिवा के रूप में हुई है। चारों पेशे से ड्राइवर और खलासी हैं। आरिफ की उम्र 26 साल है, जबकि बाकी आरोपियों की उम्र 20 साल है। गौरतलब है कि 26 वर्षीय एक महिला चिकित्सक का झुलसा हुआ शव गुरुवार को हैदराबाद के पास एक पुलिया के नीचे मिला था। उसे जलाने से पहले उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया था।

    दीपिका द्वारा किया गया पोस्ट 

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad