Haider Aid

  • Breaking News

    VIDEO:जिनको राशन कार्ड नहीं मिला है वह अभी भुखमरी की कगार पर ,विधायक सिद्धार्थ सिंह राशन वितरण के समय कहा

    वीडियो देखने के लिए यंहा क्लिक करे 

    We News 24 Hindi »बिहार/राज्य
    बिहटा /ब्यूरो संवाददाता वशिष्ठ कुमार की रिपोर्ट

    पटना: जिले के नौबतपुर प्रखंड के अलग-अलग गांव में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण और लॉक डाउन रहने के कारण मजदूर वर्ग के लोग सबसे ज्यादा परेशानी से गुजर रहे हैं | उनके घर में खाने की अनाज नहीं है वही विक्रम विधायक सिद्धार्थ सिंह ने नौबतपुर प्रखंड के अलग-अलग गांव में राशन सामग्री का वितरण किया, वहीं ग्रामीणों का कहना था कि राशन कार्ड बहुत लोगो का नहीं बना है|

    ये भी पढ़े-पटना जिले के नौबतपुर में फिर मिला कोरोना पोजेटिव।

     वही विक्रम विधायक सिद्धार्थ सिंह ने कहा कि नौबतपुर ही नहीं पूरे बिहार में यह स्थिति है आवेदन लिए हुए 2 साल हो गए हैं फिर भी राशन कार्ड नहीं बना है और जो भी यह एक महीना से राशन वितरण हो रहा है जिनके पास राशन कार्ड है उनको ही सरकार की तरफ से राशन  मिल रहा है|और जिनको  राशन कार्ड नहीं मिला है वह अभी भुखमरी की स्थिति में है, उन्होंने कहा कि यह व्यवस्था बिहार सरकार सरकार का लाचार  व्यवस्था  है।  68000 करोड रुपए बड़े,बड़े उद्योगपति का आर बी आई ने माफ कर दिया, पर गरीब का राशन कार्ड नहीं बन रहा है |



    ये भी पढ़े -लॉकडाउन के कारण दूसरे राज्यों में फंसे हुए लोगो की होगी घर वापसी ,गृह मंत्रालय की नई गाइडलाइन जारी

    वहीं ग्रामीणों का कहना है  कि सरकार की ओर से कीड़े मकोड़े वाला अनाज दिया गया है,राशन में खाने को वहीं मौजूद  सिद्धार्थ सिंह ने कहा कि सरकार की व्यवस्था को ही कीड़े मकोड़े खा रही है| डीलर भी तो सरकार का अंश है, सरकार जो दे रही है वही वितरण किया जा रहा है, सरकार गरीब को कीड़े मकोड़े वाला अनाज दे रही है,और वहीं गरीब परिवार के लोग राशन खाने के जगह फेकने पर मजबुर है, और बड़े-बड़े  उद्योगपति को पूर्ण रूप से  छुट  दिया जा रहा है।।                    

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

                    

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad