Haider Aid


 

  • Breaking News

    सीतामढ़ी जिले में जल सैलाब कहीं नदी तो कहीं बरसाती पानी से तबाही,पानी में सिसकती लाखो जिन्दगी,देखे वीडियो

    वीडियो देखने के लिए यंहा क्लिक करे 


    We News 24 Hindi » बिहार/राज्य/सीतामढ़ी 

    रोहित ठाकुर  की रिपोर्ट 

    #Biahr #flood#Sitamarhi


    सीतामढ़ी। जिले में कहीं नदी तो कहीं बरसात का  पानी से हर तरफ तबाही का आलम  बना हुआ है 21 जुलाई से लेकर 23 जुलाई तक  लगातार  बारिश ने लोगो परेशानी फिर से बढ़ा दी है । 


    जिले के सुरसंड, सोनबरसा, परिहार, भिट्ठामोड़, बेलसंड, चोरौत, बाजपट्टी, रुन्नीसैदपुर इलाकों में लाखों लोग जलजमाव और  बाढ़ से तबाह है। रुन्नीसैदपुर में एनएच-77 किनारे लोग तंबू लगाकर जीने को मजबूर हैं। तो वही परिहार में मरहा एवं हरदी नदी एक बार फिर उफना गई है। जिससे वजह से सुतिहारा पुल और लचका में तीन फीट पानी का बहाव हो रहा है। भिट्ठामोड़ से पूरब कुछ दूरी पर  एनएच-104 पर नदी का पानी चढ़ गया है। 

    बेलसंड प्रखंड के पमरा पुल में मांची गांव के निकट, कठौर छोट का पुल के पास और बेनीपुर में पानी सड़क के ऊपर से बह रही  है। सोनबरसा में झीम और लखनदेई नदी के बाढ़ से दर्जनों घर तबाह हो चुके हैं। लगातार बारिश से मरहा एवं हरदी नदी एक बार फिर से उफना पर  है। जिसके वजह से कई गांव पानी ने घर कर लिया है । वहीं प्रखंड कार्यालय परिसर भी पानी से अछूता नहीं है। कई जगहों पर सड़क के ऊपर पानी का बहाव हो रहा है। सरेह तो   पूरी तरह जलमग्न हो गया है। फसलों को भारी क्षति हुयी है। 

    ये भी पढ़े-UP NEWS: योगी सरकार का पुलिस विभाग में बड़ा बदलाव, कानपुर एसएसपी समेत 15 IPS अधिकारियों का हुआ तबादला



    परिहार प्रखंड के  भिसवा पथ में विष्णुपुर एवं चांद टोला के समीप सड़क के ऊपर पानी बह रहा है। अधगांईं में और रमनैका पथ में मैसहा मोड़ के नजदीक सडक  के ऊपर सर  पानी बह रहा  है। प्रखंड के एकडंडी, अमुआ, रमनैका, जगदर, लहुरिया, खुरशाहा, महुआबा, महादेवपट्टी, परसा, इंदरबा, बाया, फुलहट्टा, मलाही, विष्णुपुर, मझौरा आदि गांव के निचले इलाकों में पानी फैल गया है। 


    रुन्नीसैदपुर, प्रखंड के दर्जनों गांव में घरों तक में पानी प्रवेश कर चुका है। लोगो को खाना -पानी का भारी  संकट बना हुआ  है। सरकारी राहतऔर बचाव तो दूर इनलोगों सुरक्षित स्थान तक जाने के लिए  नाव भी उपलब्नध हीं है। उफनती लखनदेई और  मनुष्यमारा के कल  फैलाव से इलाके की स्थिति गंभीर बनी हुयी  है। बागमती का पानी कटौंझा में अपने लाल निशान से उपर बह रही  है। नाव की कमी के कारण लोग परेशान हो रहे हैं। 

    ये भी पढ़े-China Goods Boycott:चीन की कंपनियों के हाथ से फिसलने लगा भारत का स्मार्टफोन मार्केट




    रुन्नीसैदपुर (उतरी) वार्ड संख्या चार, पांच व सात के लोग एनएच-77 किनारे तंबू लगाकर जीने को मजबूर हैं। तो वही गाढ़ा-धनुषी पथ और अथरी-रैन विशुनी पथ पर पानी के तेज बहाव के कारण यातायत अवरुद्ध है। बगाहीं-राम नगर, अथरी, रैन विशुनी, रुन्नीसैदपुर (उतरी) रुन्नीसैदपुर सैदपुर (मध्य) रुन्नीसैदपुर (दक्षिणी), प्रेमनगर, गाढ़ा, धनुषी, मानिकचौक(उतरी) मानिकचौक(दक्षिणी), कौड़िया लालपुर, टिकौली, थुम्मा, मोरसंड, के साथ-साथ गंगवारा बुजुर्ग ,देवना बुजुर्ग पंचायत के दर्जनों गांव को  बाढ़ का  पानी अपने आगोश में ले चुका है। 

    ये भी पढ़े-Bihar News:पटना के बिक्रम में बरामद हुआ शराब का जखीरा,अंग्रेजी शराब के साथ महिला कारोबारी गिरफ्तार

    सुतिहारा पुल व लचका पर तीन फीट पानी की खबर है सुतिहारा, राधाउर, बेलहिया, कंसारा, बखरी, मकनोहिया सहित दर्जनों गांव के सरेह में बाढ़ का पानी फैल जाने से धान के बिचड़े सहित अन्य फसल नष्ट हो गए हैं। श्रीखंडी भिट्ठा पूर्वी के महादलित टोला वार्ड-5 में रातो नदी में आई बाढ़ से श्रीखंडी भिट्ठा पूर्वी वार्ड नम्बर-5 महादलित टोला में दर्जनों घरों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर चुका है। महादलित टोला वार्ड नम्बर 5 के बाढ़ प्रभावित लोग उच्चे स्थान पर जान माल की सुरक्षा की तैयारी में हैं। आगे देखे हमारे संवाददाता की रिपोर्ट |

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad