Header Ads

  • BREAKING NEWS

    सीतामढ़ी विधान सभा से BJP के प्रत्याशी डॉ मिथलेश कुमार से खास बात चित,देखे वीडियो और जाने सीतामढ़ी के बारे में क्या कहा

     



     


    We News 24 Hindi »सीतामढ़ी/बिहार

    संजू गुप्ता के साथ दीपक कुमार की रिपोर्ट

     

    सीतामढ़ी :बिहार एक बार फिर से अपना मुख्यमंत्री चुनने के लिए तैयार है. देखना है की 15 साल से नितीश कुमार मुख्यमंत्री के कुर्सी पर विराजमान है क्या इस बार भी वो सफल होते है.  दुसरे चरण के चुनाव 3 नवंबर को होने वाला है .  


    मतदान के लिए सभी पार्टियों ने कमर कस ली है. राज्य की सीतामढ़ी विधानसभा सीट पर बीजेपी और आरजेडी  के बीच सीधी टक्कर है. बीजेपी के टिकट पर यहां से डॉ मिथलेश कुमार NDA  के प्रत्याशी हैं. तो दूसरी और महागठबंधन की ओर से RJD ने फिर से अपने सिटिंग विधायक सुनील कुमार कुशवाहा पर भरोसा कर को इस सीट से  मैदान में उतारा है. दूसरे चरण का मतदान 3 नवंबर को बिहार 13 जिलों की 94 विधानसभा सीटों पर होना है .

    ये भी पढ़े-SITAMARHI:परिहार,सुरसंड RJD के ऋतू जयसवाल और मुकेश, दोजाना, बथनाहा,रिगा से कांग्रेस के टुन्ना व संजय, समेत 37 लोगो ने नामांकन किया


    सीतामढ़ी विधान सभा  सीट का इतिहास

    साल 2003 से ही भाजपा के गढ़ के रूप में उभरी सीतामढ़ी विधानसभा सीट को  RJD  ने पिछले विधानसभा चुनाव अपने कब्जे में किया . 2015 के विधानसभा चुनाव में RJD के सुनील कुमार ने चार बार से जित रहे  BJP  विधायक सुनील कुमार पिंटू को 14,722 वोटों मात दिया था . सुनील कुमार 2003 के उप-चुनाव में पहली बार इस सीट से विधायक बने थे. उसके बाद फरवरी 2005, अक्टूबर 2005 और 2010 में भी पिंटू BJP के टिकट पर जीतकर  विधानसभा पहुंचे।



    ये भी पढ़े-SITAMARHI: युवक को चाकू मारकर शव तलाब में फेका ,पुलिस कर रही है छानबीन

    अभी तक इस विधान सभा सीट पर 15 चुनावों में पांच बार भाजपा, चार बार कांग्रेस, दो बार राजद, एक-एक बार जनता दल, सीपीआई, संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी और सोशलिस्ट पार्टी के प्रत्याशी इस सीट से जीते हैं. साल 1957 और 1962 में सीतामढ़ी उत्तर और दक्षिण नाम से दो सीटें के नाम से जाना जाता था . 1957 में उत्तर सीट पर कांग्रेस के कुलदीप नारायण यादव और दक्षिण सीट पर प्रजा सोशलिस्ट पार्टी के राम सेवक सरन जीते थे. 2015 में BJP  के टिकट पर हारे सुनील कुमार पिंटू 2019 के लोकसभा चुनाव में JDU  के टिकट पर जीतकर संसद पहुंचे.

    ये भी पढ़े-SITAMARHI: उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा 15 साल बड़े भाई को देखा 15 साल मझले भाई को देखा अब छोटे भाई को मौका दीजिये


    आइये जानते ही इस सिट पर जातीय समीकरण

    इस विधान सभा सीट पर मुस्लिम वोटरों की संख्या अधिक है , लेकिन ब्राह्मण-राजपूत,वैश्य और यादव वोटर निर्णायक भूमिका में हैं. इस बार भाजपा और जदयू एक साथ चुनाव लड़ रही हैं. ऐसे में महागठबंधन के प्रत्‍याशी को सीतामढ़ी सीट पर कड़े मुकाबले का सामना करना पड़ सकता है.


    सीतामढ़ी विधानसभा में  कुल वोटरः 2.76 लाख

    पुरुष वोटरः 1.47 लाख (53.2%)
    महिला वोटरः 1.28 लाख (46.3%)
    ट्रांसजेंडर वोटरः 19 (0.006%)







    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें


    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad