Haider Aid

  • Breaking News

    मधुबनी पुलिस ने 30 लाख फिरौती के लिए अपहृत बालक के साथ तीन अपहरणकर्ता को धर दबोचा

      




    We News 24 Hindi » मधुबनी ,बिहार
    नरेंद्र यादव की  रिपोर्ट



    मधुबनी : जिले के लौकही बालक अपहरण कांड मामले में 24 घंटे के अंदर पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। लौकही थाना क्षेत्र स्थित नरहिया ओपी अंतर्गत छजना गांव से 30 लाख रुपये फिरौती के लिए अपहृत साढ़े पांच वर्षीय बालक आयुष कुमार को पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए बरामद कर लिया है। पांच अपहर्ताओं में से तीन अपहर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया है।


     शेष दो अपहर्ताओं की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है। अपहरण की घटना को अंजाम देने में प्रयुक्त चार पहिया वाहन भी पुलिस ने बरामद कर लिया है। साथ ही, जिस नेपाली सिम और मोबाइल का उपयोग30 लाख रुपये फिरौती की मांग की गई थी वह सिम और मोबाइल भी दिनेश कुमार साह के पास से पुलिस को  बरामद हुआ है।  


    ये भी पढ़े-रितु जायसवाल ने 30 जनवरी को NH 77 मानव श्रृंखला सफल करने का आवाहन किया


    गिरफ्तार किए गए अपहर्ताओं में छजना गांव निवासी ललन कुमार मुखिया, अमित कुमार चौपाल एवं दिनेश कुमार साह शामिल हैं। पुलिस ने पहले ललन कुमार मुखिया एवं अमित कुमार चौपाल को गिरफ्तार किया। इनके निशानदेही पर दिनेश कुमार साह को सुपौल जिला के भीमनगर ओपी क्षेत्र स्थित कटैया से गिरफ्तार कर पुलिस ने उसके पास से अपहृत बालक को सकुशल बरामद कर लिया।





    बांकी  दो अपराधी रौशन कुमार मंडल एवं किशुन मंडल की गिरफ्तारी के प्रयास में पुलिस जुटी हुई है। स्पीडी ट्रायल के माध्यम से अपहर्ताओं को सजा दिलाई जाएगी। छापेमारी टीम में शामिल पुलिस पदाधिकारियों एवं पुलिस कर्मियों को पुरस्कृत किया जाएगा।


    ये भी पढ़े-30 जनवरी को मानव श्रृंखला में ज्यादा से ज्यादा लोग भाग ले : RJD विधायक निरंजन राय


    26 जनवरी की शाम हुआ था बालक का अपहरण 

    साढ़े पांच वर्षीय बालक आयुष कुमार को 26 जनवरी की संध्या साढ़े छह बजे अपहरण कर लिया गया था। इस घटना की जानकारी अपहृत बालक के दादा रोहित कुमार राम ने उसी दिन साढ़े नौ बजे रात में पुलिस को दी। पुलिस ने तत्काल छानबीन प्रारंभ कर दी। उक्त पांच लोगों के विरुद्ध नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई। अपहर्ता ने 26 जनवरी की रात 11.29 बजे रात में अपहृत बालक के स्वजन को मोबाइल पर 24 घंटे के अंदर 30 लाख रुपये फिरौती की मांग की। फिरौती की रकम नहीं देने पर अपहृत बालक को जान से मार देने की धमकी दी गई। लेकिन, मोबाइल पर बातचीत के दौरान आवाज से एक अपहर्ता की पहचान रौशन कुमार मंडल के रुप में कर ली गई।


    ये भी पढ़े-यूनाइटेड युथ गिल्ड के रीजनल कंट्री डायरेक्टर बने सैय्यद दानिश


    एसपी ने किया था छापेमारी दल का गठन 


    बालक अपहरण कांड को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक ने अपहृत बालक की बरामदगी एवं अपहर्ताओं की गिरफ्तारी के लिए फुलपरास के एसडीपीओ प्रभात कुमार शर्मा के नेतृत्व में छापेमारी दल का गठन कर दिया। छापेमारी दल ने तकनीकी अनुसंधान एवं गुप्त सूचना के आधार पर त्वरित कार्रवाई करते हुए अपहृत बालक को बरामद करते हुए तीन अपहर्ताओं को भी गिरफ्तार कर लिया। छापेमारी दल में लौकही थानाध्यक्ष रामचंद्र चौपाल, नरहिया ओपी अध्यक्ष सुनील कुमार झा, खुटौना थानाध्यक्ष संतोष कुमार मंडल, लौकहा थानाध्यक्ष धनंजय कुमार, अंधरामठ थानाध्यक्ष धर्मेन्द्र कुमार, नरहिया ओपी के दारोगा ओम प्रकाश सिंह एवं जामादार राजू कुमार सिंह, तकनीकी कोषांग के सिपाही सुरेश कुमार, फुलपरास एसडीपीओ के अंगरक्षक सिपाही गोपाल कुमार और चालक सिपाही कुंदन सिंह शामिल थे।


    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें




    %25E0%25A4%25B5%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25AC%25E0%25A4%25B8%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2587%25E0%25A4%259F%2B%25E0%25A4%25B2%25E0%25A5%258B%25E0%25A4%2597%25E0%25A5%258B


    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad