Haider Aid


 

  • Breaking News

    SITAMARHI:बिहार में ये क्या हो रहा है, अपराधी खुलेआम कह रहा है, मैं विवेक यादव बोल रहा हूं, पांच लाख नहीं दिए तो मैं उड़ा दिया







    We News 24 Hindi » सीतामढ़ी / बिहार
    दीपक कुमार की  रिपोर्ट


    सीतामढ़ी । बिहार में अपराधियों का मनोबल इतना बढ़ गया है अपराध करने के बाद वो अपना जुर्म कबूल करने से भी नहीं डरते वो भी तब आईजी मौजूद है लगता है बिहार में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज ही नही है। जिस शराबबंदी को बिहार सरकार और उनके मंत्री बढ़ा चढ़ा कर पेश कर रहे है असल में वो शराबबंदी राज्य के ज्यादातर  नौजवान को शराब तस्करी और रंगदारी में धकेल दिया है आलम ये है की सूबे के हर जिले में शराब माफिया सक्रीय है। और शराब का कारोबार किसके सह पर हो रहा है ये इससे आप सभी वाकिफ है  जो पैसा  बिहार सरकार के खजाने में जाना चाहिए वो पैसा भ्रष्ट अधिकारी और शराब माफिया के जेब में जा रहा है ये बाते सोचने पर मजबूर कर रही है की शराबबंदी कानून बिहार को आबाद कर रहा है या बर्वाद ?

    ये भी पढ़े-मुज़फ़्फ़रपुर रेस्क्यू टीम ने खतरनाक बंदर को पकड़ा,बंदरो ने गाँव में मचा रखा था आंतक


    अभी की तजा मामला ले ले तो सीतामढ़ी जिले में एक दिन में तक़रीबन आधा दर्जन गोलीबारी का धटना हो चूका है जिसमे व्यपारी से लेकर पुलिसकर्मी तक मारे जा चुके है और अपराधियों का मनोबल चरम पर है अपराधी अपराध करके फोन भी करते है हमने इस धटना को अंजाम दिया इसका उदाहरण सीतामढ़ी  शहर के सिमेंट-बालू व्यवसायी विजय भगवानी ऊर्फ गुड्डू की गोली मार हत्या करने बाद  अपराधी  मीडिया को फोन करके इस घटना की जिम्मेदारी भी लेता है । कहता है  कि अन्य लोग भी निशाने पर हैं, जो बात नहीं मानेंगे उनका भी यहीं अंजाम होगा। अपराधी अपना  नाम विवेक यादव और घर मोहनपुर बताता है । अपराधी ने  कहा कि व्यवसायी से पांच लाख रुपये रंगदारी मांगी गई थी। वे धमकी को गंभीरता से नहीं ले रहे थे अंजाम भुगतना पड़ा। 


    ये भी पढ़े-अक्षरा सिंह और राकेश मिश्रा लगाएंगे 'बाजी'


    आप ही सोचे की जब सीतामढ़ी में आईजी के साथ एसपी मौजूद, तब अपराधियों ने दिनदहाड़े व्यवसायी को भूना - अपराधी कितने बेखौफ हैं यह कहने की बात नहीं है। 24 घंटे के अंदर गोलीबारी की चार बड़ी घटनाएं हो चुकी हैं। जिनमें एक ऑन ड्यूटी दारोगा शराब तस्करों से लोहा लेते शहीद हो गए। चौकीदार को भी गोलियां मारी। बेलसंड में एक अधेड़ की गोली मार हत्या कर दी गई। परिहार में मामूली विवाद में दो लोगों को गोली मारी गई। इधर, सीतामढ़ी शहर के अंदर दिनदहाड़े एक प्रमुख व्यवसायी को गोलियों से छलनी कर दिया। यह घटना उस वक्त हुई जब तिरहुत प्रक्षेत्र के आइजी गणेश कुमार स्वयं भी जिले में मौजूद थे। उनके साथ पुलिस कप्तान अनिल कुमार और तमाम पुलिस पदाधिकारी मूवमेंट में थे। एक के बाद एक घटना को बेखौफ अपराधी अंजाम दे रहे हैं जबकि, पुलिस का इंटेलीजेंस, क्राइम ब्रांच सबके रहते ये हाल है। हर हफ्ते लॉ एंड ऑर्डर को मेंटेन रखने के लिए पुलिस और प्रशासन के स्तर पर बैठकें हो रही हैं बावजूद ये हाल उन बैठकों का का क्या  हश्र हो रहा है ये सारी बाते बिहार में  लॉ एंड ऑर्डर पर सवालिया निशान खड़ी करती है। तब भी  बिहार में सुशासन की सरकार है? 

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad