Haider Aid


 

  • Breaking News

    दिल्ली पुलिस ने रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वाले 3 लोगो गिरफ्तार किया , 70 हजार में बेच रहे थे एक इंजेक्‍शन




    COVID%2BCampaign

    We News 24 Hindi »नई दिल्ली 

    राजकुमार  की   रिपोर्ट 


    नई दिल्ली: कोरोना वायरस के मामलों में तेज बढ़ोतरी के बीच दिल्ली के अलग-अलग हिस्सों से रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी  में लगे पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है. दक्षिणी दिल्ली में तीन लोगों को पकड़ा गया है जबकि पश्चिमी दिल्ली में भी दो लोग हिरासत में लिए गए हैं. पुलिस ने बताया कि दक्षिणी दिल्ली में रविवार को गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान पटपड़गंज निवासी लिखित गुप्ता (30), दरियागंज में रहने वाले आकाश वर्मा (23) और गीता कॉलोनी के निवासी अनुज जैन (40) के तौर पर हुई है।

    ये भी पढ़े-गया जिले में मुस्लिम युवकों ने मिसाल पेश किया ,हिंदू महिला के शव को दिया कंधा

    पुलिस डिप्टी कमिश्नर (दक्षिण) अतुल कुमार ठाकुर ने बताया, “इंडिया हैबिटैट सेंटर, लोधी रोड के पास एक कार की तलाशी ली गयी. जांच करने पर गुप्ता और वर्मा के पास से रेमडेसिविर के चार इंजेक्शन मिले.” अधिकारी ने बताया कि पकड़े गए लोगों ने पुलिस को बताया कि वे जरूरतमंद लोगों को एक इंजेक्शन 70,000 रुपये में बेचते थे. पुलिस ने रेमडेसिविर दवा की कथित कालाबाजारी के लिए पश्चिमी दिल्ली में भी दो लोगों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने बताया कि तिलक नगर थाने के कर्मियों को मिली गुप्त सूचना के बाद रविवार को गुरप्रीत सिंह (29) और अनुज जायसवाल (30) को गिरफ्तार किया गया. सिंह मायापुरी में कल-पूर्जे का व्यापार करता है जबकि जायसवाल कृष्णानगर में एक अस्पताल में काम करता है. दोनों के पास से रेमडेसिविर दवा बरामद की गई।

    ये भी पढ़े-पत्नी के प्रेम प्रसंग से तंग आकर पति ने करवा दी पत्नी की दूसरी शादी

    दवाइयों की किल्लत के बीच रेमडेसिविर की कालाबाजारी

    जहां एक तरफ, पूरे देश में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं, तो दूसरी तरफ देशभर के ज्यादातर अस्पतालों से दवाईयों की किल्लत की समस्या भी सामने आ रही है. इस बीच, कई जगहों पर रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वालों को भी पकड़ा जा रहा है. इन ठगों ने कहीं पर अस्पतालों से रेमडेसिविर इंजेक्शन चोरी करके रखे हुए हैं तो कहीं पर खरीदकर स्टॉक कर रखा है. इससे पहले भी, लखनऊ में नाका पुलिस ने शुक्रवार को रेमडेसिवीर की कालाबाजारी करने वाले 2 नर्सिंग स्टाफ सहित चार लोगों गिरफ्तार किया था।

    ये भी पढ़े-वैशाली : हाजीपुर के पूर्व MLC जगन्नाथ राय का इलाज के दौरान हुआ निधन

    रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी के सामने आए मामले

    पुलिस ने बताया था कि गिरफ्तार आरोपियों के नाम रामसागर, अमनदीप, अंकुर वैश्य और अंशु गुप्ता है. अमनदीप मदार स्कोप हॉस्पिटल और रामसागर KGMU में नर्सिंग स्टाफ के पद पर तैनात था. इन सभी लोगों को नाका पुलिस ने लखनऊ के चारबाग मेट्रो स्टेशन के पास से गिरफ्तार किया. आरोपियों के पास से 116 रेमडेसिविर इंजेक्शन, 1,94,310 रुपये, 4 मोबाइल फोन और 3 दो पहिया वाहन भी बरामद किए गए थे. इससे पहले पुलिस की टीम ने ठाकुरगंज में एरा मेडिकल कॉलेज के पास भी रेमडेसिविर की ब्लैक मार्केटिंग के लिए 4 चार लोगों को गिरफ्तार किया था। 


    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    %25E0%25A4%25B8%25E0%25A5%259E%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25A6


    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad