Header Ads

  • BREAKING NEWS

    DELHI_पीएम मोदी ने संसद के दोनों सदनों में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव का दिया जवाब

    We News 24 Hindi » दिल्ली/राज्य

    NCR/दिल्ली/ब्यूरो संवाददाता अमित मेहलावत 

    नई दिल्ली : पीएम मोदी ने संसद के दोनों सदनों में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव का जवाब देते हुए कहा कि सीएए से किसी देशवासी की नागरिकता नहीं जाएगी, कांग्रेस और लेफ्ट पर लोगों को उकसाने का लगाया आरोप , कहा संसद, विधानसभाओं के फैसलों के खिलाफ सड़कों पर प्रदर्शनों से आएगी अराजकता, 370 हटाने के फैसले को बताया कश्मीर में शांति और विकास के लिए जरुरी।

    ये भी पढ़े -Uttar Pradesh:आठवीं क्लास के बच्चे ने टीचर के गले और हाथ पर चाकू से हमला किया

    राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब में प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर वो पुरानी कांग्रेस सरकारों की तरह काम कर रहे होते तो तमाम समस्याओं का समाधान न हो पाता । प्रधानमंत्री ने संशोधित नागरिकता कानून के मसले पर विस्तार से बात रखी और कांग्रेस पर देश के मुसलमानों के बीच भ्रम फैलाने का आरोप लगाया । प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस पाकिस्तान की भाषा बोल रही है।  

    ये भी पढ़े -Patna:नूतन राजधानी एवं पाटलीपुत्र अंचल मे स्वीपिंग मशीन से सफाई अभियान चलाया गया

    पीएम ने तमाम पुराने उदाहरणों और भाषणों के जरिए बताया कि कैसे सीएए की जरुरत लंबे समय से महसूस की जा रही थी । प्रधानमंत्री ने एक बार फिर से देश की जनता को भरोसा दिलाया कि सीएए से कि देश के किसी नागरिक की नागरिकता नहीं जाएगी ।
    जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को समाप्त करने के मसले पर पीएम मोदी ने कहा कि कश्मीर में शांति और तीव्र विकास के लिए ये फैसला लिया गया । कश्मीर को भारत का ''मुकुटमणि''करार देते हुए पीएम ने कहा कि उसकी पहचान बम, बंदूक और अलगाववाद की बना दी गई थी । अनुच्छेद 370 को समाप्त करने को संविधान के विरूद्ध बताने के कुछ  कश्मीरी नेताओं का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि  संविधान को मानने वाले लोग ऐसी बात को कैसे स्वीकार कर सकते हैं ।

    ये भी पढ़े -Muzaffarpur:सत्संग से ही विवेक मिलता है : जगतगुरु

    दिल्ली की एक रैली में बुधवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान का हवाला देते हुए पीएम ने बिना नाम लिए उन पर हमला बोला और कहा कि अब वो सूर्य नमस्कर की संख्या इतनी बढ़ा देंगे ताकि उनकी डंडे झेल सके।'''
    प्रधानमंत्री ने बोडो समझौते का भी जिक्र किया और कहा कि इससे पूर्वोततर में नया सवेरा होगा । पीएम ने कहा कि पहले की सरकारों ने समझौते राजनीति के तराजू से तौलकर और आधे-अधूरे मन से किए गए ।पीएम ने सदन में बेहद भावनात्मक अपील के साथ अपना भाषण खत्म किया ।

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad