Header Ads

  • BREAKING NEWS

    GOOD NEWS: भारत में मई महीने के तीसरे सप्ताह तक ही कोरोना वायरस का प्रभाव रहेगा।

    We News 24 Hindi »दिल्ली/राज्य

    NCR/एडिटर एंड चीफ दीपक कुमार व्याहुत

    नई दिल्ली : समय रहते ही भारत  सरकार कोरोना से बचने के लिये जो लॉकडाउन करने की सोची आज वो भारत के लिए एक वरदान के रूप में साबित हो रही है , जिसका परिणाम आज भारत में देखने को भी मिल रहा है |  विशाल जनसंख्या होने के बावजूद  भी अन्य देशों से के मुकाबले कोरोना को लेकर  बेहतर स्तिथि है। 16 अप्रैल तक उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार भारत में प्रति 10 लाख जनसंख्या पर पश्चिमी देशों के मुकाबले भारत में कोरोना संक्रमण से ग्रसित लोगो के आंकडे बहुत ही कम है जबकि  लॉकडाउन से पहले 3 दिनों में कोरोना के मरीज दोगुने हो रहे थे, अब कोरोना के मरीजों की संख्या दोगुनी होने में औसतन 6.2 दिनों का समय लग रहा है।

    ये भी पढ़े -केंद्र साकार अपने उधारी संग्रह कार्यक्रम में भी बदलाव करने की सोच रही है

    देश के 19 राज्यों में यह अवधि और भी ज्यादा है। इन राज्यों में केरल, असम, पंजाब, उत्तरप्रदेश, दिल्ली, हरियाणा आदि शामिल हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार जो लोग कोरोना से जंग हार रहे हैं उनमें से अधिकांश की उम्र 63 साल से अधिक है। इस उम्र वाले लोग अमूमन पहले से ही दूसरी  गंभीर बीमारियों से ग्रसित होते हैं।        

    संभावित मरीजों की जाँच की जाती है

    कुछ विपक्षी दलों के द्वारा यह भी सवाल यह उठाया जा रहा है कि भारत में कोरोना की जाँच की रफ़्तार कम होने के कारण मामले कम आ रहे, लेकिन लोगों की यह धारणा गलत है, क्योंकि भारत में स्क्रीनिंग काफी तेज रफ़्तार से की जा रही है, लेकिन कोरोना के लक्षण मिलने पर ही संभावित मरीजों की जाँच की जाती है। उदाहरण के तौर पर बिहार के 38 जिलों में 2 दिनों (16 एवं 17 अप्रैल) के अंदर 48 लाख से अधिक लोगों की स्क्रीनिंग की गई है। यह सही भी है, क्योंकि सभी का कोरोना का टेस्ट करने से आमजन भयभीत होंगे, जिससे समस्या और बढ़ने की संभावना खड़ी हो जाएगी।

    24 लोगों की जांच पर एक मरीज

    जानकारी के अभाव में लोग यह भी कह रहे हैं कि कोरोना के साथ जंग में जापान भारत से आगे है, लेकिन हकीकत इससे अलग है। भारत में 24 लोगों की जांच पर एक मरीज निकल रहा है, जबकि जापान में 11.7, इटली में 6.7, अमेरिका में 5.3 और ब्रिटेन में 3.4 जांच करने पर एक मरीज मिल रहा है। इस तरह मरीजों की संख्या के हिसाब से भारत दूसरे देशों के मुकाबले कई गुना अधिक टेस्ट कर रहा है। भारत में कोरोना से मिलते-जुलते दूसरे संक्रमण वाली बीमारियों जैसे, सर्दी, खांसी, साँस लेने में तकलीफ आदि से ग्रसित मरीजों का भी कोरोना टेस्ट किया जा रहा है।

    भारत में मई महीने के तीसरे सप्ताह तक ही कोरोना वायरस का प्रभाव रहेगा।
    भारत में कोरोना संक्रमण के प्रसार की संभावनाओं के संबंध में ग्लोबल कंसल्टिंग फर्म प्रोटिविटी और टाइम्स नेटवर्क ने भी एक अध्ययन किया है, जिसके निहितार्थ बेहद ही सकारात्मक हैं।  टाइम्स फैक्ट-इण्डिया-आउटब्रेक की रिपोर्ट, जो 16 अप्रैल को जारी की गई है, में कहा गया है कि भारत में मई महीने के तीसरे सप्ताह तक ही कोरोना वायरस का प्रभाव रहेगा। उसके बाद यह कमजोर पड़ने लगेगा। इस अध्ययन में 8 राज्यों, देश के शीर्ष 3 हॉट स्पॉटस, स्वास्थ्य मंत्रालय का दैनिक बुलेटिन, विदेशों में कोरोना के बढ़ने की प्रवृति आदि के आंकड़ों का विश्लेषण किया गया है।


    कहा जा सकता है कि कोरोना के बारे में अभी भी जागरूकता फ़ैलाने की जरुरत है। बहुत सारे लोग, जिसमें पढ़े-लिखे लोग भी शामिल हैं, इसकी गंभीरता को नहीं समझ रहे हैं। मौजूदा समय में जरुरत यह है कि हम कस्बाई, गाँवों और दूरदराज के इलाकों में रहने वाले लोगों को इस आपदा के बारे में बतायें और जागरूक करें। वर्तमान में सिर्फ सावधानी बरतकर ही हम कोरोना की गति को कम कर सकते हैं, क्योंकि इसका इलाज फ़िलहाल किसी भी देश के पास उपलब्ध नहीं है।

    बेहतर प्रतिरोधक क्षमता वाले अपने आप ही ठीक हो रहे है 

    अभी कोरोना से ग्रसित वैसे ही मरीज ठीक हो रहे हैं जिनके शरीर में बीमारियों से लड़ने की बेहतर प्रतिरोधक क्षमता है। हालाँकि, कोरोना के मरीजों को मलेरिया आदि की दवाइयां प्रयोग के तौर पर दी जा रही हैं, लेकिन यह कहना मुश्किल है कि ठीक होने वाले कोरोना के मरीज दी गई दवाइयों से ठीक हुए हैं या अपने शरीर की प्रतिरोधक क्षमता के कारण। इसलिये, मौजूदा समय में हम सभी लॉकडाउन का शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित करें, इसी में हमारी और देश की बेहतरी है। सरकार अपनी तरफ से हर संभव प्रयास कर रही है, नागरिक के रूप में हमें भी नियमों का पालन कर उसका सहयोग करते रहने की आवश्यकता है। इसी तरह यह लड़ाई जीती जा सकती है।

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

     

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad