Haider Aid

  • Breaking News

    केन्द्रीय मंत्री मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने कहा राहुल गांधी को स्‍वदेशी पच नहीं रहा है।


    We
     News 24 Hindi »नई दिल्ली /
    NCR

    संवाददाता गोविन्द कुमार की रिपोर्ट

    नई दिल्‍ली:भारत को आत्‍मनिर्भर बनाने की दिशा में घोषित 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज की राहुल गांधी ने आलोचना की है। राहुल गांधी का  मानना है कि सरकार को कर्ज देने के बजाय लोगों के हाथ में पैसा देना चाहिए। 

    वे चाहते हैं कि इसके लिए उनकी सुझाई न्‍याय योजना को केंद्र सरकार अस्‍थायी रूप से लागू करे। राहुल ने शनिवार को स्‍थानीय इलेक्‍ट्रॉनिक मीडिया चैनल्‍स से वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग में यह बात राहुल गांधी ने कही। सरकार की ओर से केंद्रीय मंत्री मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने राहुल गांधी को जवाब दिया । 

    नकवी ने कहा कि कांग्रेस के राज में कैशबाजी बहुत होती थी। उन्‍होंने कहा कि जो कैश पर ऐश करते हैं, उन्‍हें लगता है कि कैश पर सिर्फ ऐश होता है। केंद्रीय मंत्री ने कहा क‍ि राहुल गांधी को स्‍वदेशी पच नहीं रहा है।

    ये भी पढ़े-उद्धव सरकार पर भड़के उत्तर प्रदेश के मंत्री,कहा श्रमिकों को जानबूझकर ट्रकों में ठूंसकर भेज रही महाराष्ट्र सरकार


    कांग्रेस के समय में होती थी कैशबाजी
    केंद्रीय मंत्री ने एक निजी चैनल से बातचीत में कहा कि राहुल को इस समय में भी 'कैश ही नजर आ रहा है।' नकवी ने कहा कि "आज वो इस आपदा के समय में सरकार द्वारा किए गए प्रयासों के बारे में बात कर रहे हैं तो उस वक्‍त भी उन्‍हें कैश ही नजर आ रहा है। 

    ये भी पढ़े-नवादा:नशे में धुत चौकीदार ने दिव्यांग को पिटा,लोगो ने किया पुलिस के हवाले


    अरे भइया, 41 करोड़ से ज्‍यादा किसानों, मजदूरों, जरूरतमंदों को इसी दौरान डायरेक्‍ट बेनेफिट ट्रांसफर (DBT) के तहत पैसा दिया गया है। हां, ये बात सही है कि उनके समय में कैशबाजी बहुत होती थी लेकिन आज देशभर में जनधन खाते हैं। देश के लोगों तक 52,606 करोड़ रुपये पहुंचाए गए हैं। उसके अलावा भी जरूरतों के हिसाब से पैसा दिया गया है।

    Header%2BAid
    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad