Header Ads

  • BREAKING NEWS

    Rafael Hammer Missile:हैमर मिसाइल से लैस राफेल विमान,60 किमी की रेंज में दुश्‍मन होगा ध्‍वस्‍त


    We News 24 Hindi »नई दिल्ली 

    अंजलि कुमारी  की रिपोर्ट
    #Rafael Hammer Missile


    नई दिल्ली:ANI भारत- चीन तनाव के बीच राफेल विमान की पहली खेप 29 जुलाई को भारत पहुंचने वाली है। इसी बीच खबर आई है कि भारतीय वायुसेना राफेल लड़ाकू विमान को फ्रांसीसी हैमर मिसाइल  ( से लैस करने की तैयारी में है। इससे लड़ाकू विमान की मारक क्षमता में वृद्धि होगी। मोदी सरकार द्वारा सशस्त्र बलों को दी गईं खरीदारी की आपातकालीन शक्तियों के तहत हैमर मिसाइलों के लिए ऑर्डर दिया गया है। यह मिसाइल लगभग 60-70 किलोमीटर की सीमा पर किसी भी प्रकार के लक्ष्य को साधने की क्षमता रखती है।   

    ये भी पढ़े-Rajsthan Political Fight: क्या गहलोत की कुर्सी खतरे में,सचिन पायलट ने जीती सुप्रीम कोर्ट की जंग


    सरकारी सूत्रों ने समाचार एजेंसी एएनआइ को बताया, 'हैमर मिसाइलों के लिए आदेश जारी किया जा रहा है। फ्रांसीसी अधिकारियों ने कम समय में राफेल लड़ाकू विमानों के लिए इसकी आपूर्ति पर सहमति व्यक्त की है। वायु सेना द्वारा इन मिसाइलों की तत्काल आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए फ्रांसीसी अधिकारी मौजूदा स्टॉक से भारत को ये मिसाइल सिस्टम मुहैया कराएंगे, जो उन्होंने अपने कुछ अन्य ग्राहकों के लिए तैयार किए थे। 

    ये भी पढ़े-Ayodhya Bhoomi Pujan:अमेरिका के हाउडी मोदी' जैसा होगा भूमि पूजन कार्यकर्म



    जानें हैमर के बारे में
    हैमर (हाइली एजाइल मॉड्यूलर म्यूनिशन एक्सटेंडेड रेंज) एक मध्यम श्रेणी का एयर-टू-ग्राउंड मिसाइल है। इसे शुरुआत में फ्रांसीसी वायुसेना और नौसेना के लिए डिजाइन किया गया था। यह भारत को पहाड़ी क्षेत्रों सहित किसी भी इलाके में किसी भी बंकर या ठिकानों पर हमले की क्षमता को बढ़ाएगा। वहीं समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार वायुसेना के एक प्रवक्ता ने इस संबंध में कुछ भी कहने से  इनकार किया। 

    ये भी पढ़े-Air India :वित्तीय संकट से जूझ रही एयर इंडिया को 2 साल तक की लीव विदाउट पे योजना को मंजूरी


    कोरोना के कारण राफेल की  डिलीवरी में देरी
    गौरतलब है  29 जुलाई को पांच राफेल विमान फ्रांस से भारत आने वाले हैं। विमान की डिलीवरी पहले मई के अंत तक होने वाली थी, लेकिन दोनों देशों में कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुए इसे दो महीने के लिए स्थगित कर दिया गया था। भारत और फ्रांस के बीच हुए समझौते के तहत 36 राफेल जेट सितंबर 2022 तक आने वाले हैं। वायुसेना के पायलट और तकनीकी अधिकारी राफेल की उड़ान से लेकर संचालन को लेकर पूरी तरह प्रशिक्षित हो चुके हैं। 

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें



     

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad