Header Ads

  • BREAKING NEWS

    उत्तर प्रदेश :आठ पुलिसकर्मी के हत्यारा दुर्दांत अपराधी 36 घंटे बाद भी नहीं पकड़ा गया,सौ पुलिस टीम कर रही है तलाश


    We News 24 Hindi » उत्तर प्रदेश /राज्य 

    कानपूर से योगेश मोर्य की रिपोर्ट

    कानपुर: के चौबेपुर में गुरुवार रात छापेमारी करने  गई पुलिस टीम पर दुर्दांत अपराधी विकास हमला करके एक सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्या करने वाला अपराधी विकास दुबे 36 घंटे बाद भी पुलिस के गिरफ्त में नहीं आ सका । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी के साथ ही पुलिस के आला अधिकारी उसकी तलाश में खाक छान रही है । विकास दुबे सहित 35 लोगों के खिलाफ हत्या और  हथियारों की लूट का मामला दर्ज किया गया है।

    ये भी पढ़े- दुल्हिन बाजार एवं फुलवारी शरीफ,बज्रपात में मृत व्यक्ति के परिवार को चार लाख अनुदान राशी दिया गया


     फरार विकास दुबे की तलाश में प्रदेश की सौ पुलिस टीमें लगी हैं। इनमें एसटीएफ की भी आठ टीमें हैं। विकास दुबे की फरारी के 36 घंटा के बाद भी उसका कोई पता  नहीं मिल रहा है। पुलिस की टीमें लगातार उसकी तलाश में लखनऊ, कन्नौज, सौनभद्र, वाराणसी, प्रयागराज, मथुरा, सहारनपुर तथा बांदा में छापे मार रही हैं। लखनऊ में उनके छोटे भाई की पत्नी तथा पत्नी के भाई को भी हिरासत में लिया गया है। विकास दुबे और उसके साथियों ने पुलिस से पांच असलहे भी लूटे थे। इनमे एक एके-47 रायफल, एक इंसास रायफल, एक ग्लॉक पिस्टल और दो 9 एमएम पिस्टल हैं।

    ये भी पढ़े-VIDEO :भारत के पीएम मोदी का तेवर देख चीन पाकिस्तान के छूटे पसीने

    विकास के परिवार के लोगों समेत 32 के खिलाफ मुकदमा
    आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में थाना प्रभारी ने शुक्रवार देर रात हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे, उसके भाई, भतीजे, मामा व परिवार के 10 सदस्यों और 22 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। मुकदमे हत्या, हत्या का प्रयास, डकैती, बलवा, सरकारी कार्य में बाधा, 7 क्रिमिनल लॉ अमेंडमेंट एक्ट आदि धाराओं में दर्ज किया गया है। मुठभेड़ में आरोपित के दो रिश्तेदारों की मौत मामले में भी हत्या का प्रयास, आर्म्स एक्ट का केस दर्ज कराया गया है। सीओ, तीन दारोगा और अन्य जवानों के पोस्टमार्टम के बाद देर रात अधिकारियों के निर्देश पर चौबेपुर थाना प्रभारी विनय कुमार तिवारी ने यह दो मुकदमे दर्ज कराए।

    ये भी पढ़े-इस समय की बड़ी खबर :बंगाल पुलिस कांस्टेबल ने अपनी सर्विस राइफल से खुद को गोली मार ली


    तहरीर के मुताबिक वह हत्या के प्रयास व बलवा के मामले में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकडऩे टीम के साथ गए थे। तभी विकास ने अपने साथियों व परिवारवालों के साथ पुलिस टीम पर हमला कर दिया। बंदूकों, रायफलों से गोलीबारी व बमबाजी की। इसमें सीओ देवेंद्र मिश्र, थाना प्रभारी शिवराजपुर, दो दारोगा और  चार सिपाही मारे   गए। वहीं, बिठूर थाना प्रभारी, चार सिपाही, एक होमगार्ड व एक अन्य घायल हो गए। एसपी ग्रामीण बृजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि विकास समेत दस परिवार वालों को नामजद किया गया है और 22 अज्ञात हमलावर भी शामिल हैं। शुक्रवार सुबह कॉम्बिंग के दौरान मुठभेड़ में हमलावर प्रेमकुमार व अतुल की मौत हो गई। उनके खिलाफ आर्म्स एक्ट, जानलेवा हमले की धाराओं में रिपोर्ट लिखाई गई।

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad