Haider Aid

  • Breaking News

    रीगा के शहीद मथुरा मंडल, मौजें झा, सुखराम महरा,एवं ननू मियां का शहादत दिवस समारोह सम्पन्न।



    We News 24 Hindi »सीतामढ़ी/बिहार

    रोहित ठाकुर  की रिपोर्ट 


    सीतामढ़ी:शहीद रामफल मंडल विचार मंच,रीगा के तत्वाधान में  स्वतंत्रता आंदोलन में रीगा के अमर शहीद मथुरा मंडल, मौजें झा, सुखराम महरा,ननू मियां सहित फांसी को गले लगाने वाले, रामफल मंडल एवं जुब्बा साहनी एवं जिले के सभी शहीदों का सामूहिक शहादत दिवस समारोह म वि ,रीगा, इमली बाजार के प्रांगण में मनाया गया। समारोह की अध्यक्षता कार्यक्रम संयोजक अरविंद मंडल ने किया। संचालन संजय पासवान ने किया।

    ये भी पढ़े-BIHAR:तीन दिन से लापता एक लड़की का शव सुबह नौबतपुर नहर से मिला।


     समारोह को, शहीदों के चित्र पर डा शशिधर शर्मा, बिनोद बिहारी मंडल,अनिल कुमार,पुर्व सैनिक,संजय संघर्ष सिंह,कैप्टन सुधीर सिंह,के द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर माल्यार्पण कर उद्धाटन किया गया। समारोह के मुख्य अतिथि, शहीदों के शोधकर्ता सह शहीद रामफल मंडल विचार मंच ‌के संयोजक, बिनोद बिहारी मंडल ने आजादी की लड़ाई में  रीगा के अमर शहीद के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर डालते हुए कहा कि,भारत छोड़ो आंदोलन में 29 अगस्त 1942 ई को रीगा रेलवे स्टेशन पर रेल की पटरी उखारने एवं टेलिफोन तार के काटने के क्रम में अंग्रेजी पुलिस एवं आन्दोलनकारीओं के बीच हुए झरप में गोली से शहीद हो गए।



    रेवासी गांव में हुए झरप में मथुरा मंडल शहीद हो गये। 23 अगस्त 1943 ई को रामफल मंडल को तथा 11 मार्च 1944 ई को जुब्बा साहनी को भागलपुर सेन्ट्रल जेल में फांसी हो गई।तथा पुपरी,चोरौत, सुरसंड,रीगा,एवं तरियानी के दो दर्जन से अधिक लोग शहीद हो गए। उन्होने कहा कि,जिन उद्देश्यों के लिए हमारे महापुरुषों ने शहादत दी,वह आज अधुरा है। उन्होंने शहीदों के जीवनी को पाठ्य पुस्तकों में शामिल करने,स्मारक बनाने,डाक टिकट जारी करने, सीतामढ़ी मेडिकल कॉलेज का नाम शहीद रामफल मंडल के नाम करने की मांग की।


     विशिष्ट अतिथि, समाजसेवी,संजय संघर्ष सिंह ने कहा कि ,देश में घोटाले तो बहुत हुए हैं। उसमें इतिहास का घोटाला सबसे बड़ा घोटाला है। जिसने शहीदों को इतिहास के पन्नों से गायब कर दिया। उन्होंने छात्रों एवं नौजवानों से शहीदों का इतिहास लेखन करने की अपील की।सहसंयोजक,पूर्व सैनिक अनिल कुमार, ने जन जन तक शहीदों की शहादत को पहूंचाने की अपील की।कैप्टन सुधीर सिंह ने कहा कि देश संक्रमण के दौर से गुजर रहा है। संविधान ख़तरे में है।पुनः गुलामी का इतिहास दुहराने की तैयारी हो रहीं हैं। उन्होंने देश को बचाने के लिए, शहीदों के अधुरे सपना को पुरा करने के लिए, संघर्ष करने की अपील की।

     समारोह को ,फेकन मंडल,प्रो शंभू प्रसाद सिंह,कैप्टन प्रेमशंकर सिंह,जीवनाथ राम,शशिधर शर्मा, बैद्यनाथ मंडल, अशोक मंडल,सुरेश राम,गुलाब सिंह,मंडल मनोज,अजय मंडल, राजकिशोर मंडल, कमल किशोर, अमोद पासवान,विजय पासवान,राजू प्रसाद,अमीरूल हक,लक्ष्मी महतो,सुरेश राम,अशोक निराला,प्रेम प्रकाश मंडल,चुल्हाई बैठा,नवल किशोर साह,मनदीप कुमार, सहित दर्जनों लोगों ने श्रृद्धांजलि अर्पित की।

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें


    png

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad