Haider Aid


 

  • Breaking News

    खाद्य तेल पेट्रोल- डीजल और रसोई गैस के दामों में उछाल के बाद सीएनजी और पीएनजी के दाम में वृद्धि

    तस्वीर @ We News 24




    We News 24 Hindi » नई दिल्ली 
    अमित मेहलावत की रिपोर्ट।


    नई दिल्ली।दिल्ली-एनसीआर के लाखों लोगों पहले ही  महंगाई से जूझ रहे है और  सरकार ने  एक और झटका दे दिया ।पेट्रोल- डीजल और रसोई गैस के दामों में उछाल के बीच अब सीएनजी और पीएनजी गैस के दाम ने भी छलांग लगाई है। इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड (आईजीएल) ने सीएनजी के दामों में प्रति पैसे 70 पैसे की वृद्धि की है। आईजीएल ने इस वृद्धि के लिए कोरोना महामारी के दौरान आए अतरिक्त खर्च का हवाला दिया है।

    ये भी पढ़े-वैशाली के बुद्धा वर्ल्ड स्कूल के चेयरमैन को लखनऊ में आई यू ई एफ शिक्षा रत्न से सम्मानित किया गया

    वृद्धि के साथ नई दिल्ली में यह 43.40 रुपये और नोएडा, ग्रेटर नोएडा व गाजियाबाद में यह 49.08 रुपये में मिलेगा। इसी तरह कानपुर, हमीरपुर और फतेहपुर में यह 60.50 रुपये प्रति किलो मिलेगा। मुजफ्फरनगर और शामली में यह 57.25 रुपये तथा रेवाड़ी में 54.10 रुपये प्रति किलो मिलेगा। जबकि करनाल और कैथल में 51.38 रुपये बढ़ी दर पर मिलेगा। इसी तरह पीएनजी के दाम में भी 91 पैसा की वृद्धि आईजीएल ने की है। नई कीमतें मंगलवार सुबह छह बजे से लागू होगी। 


    रसोई गैस सिलेंडर के भी दाम बढ़े


    बता दें कि दिल्ली में 14.9 किलोग्राम रसोई गैस सिलेंडर के दाम में सोमवार को 25 रुपये का इजाफा किया गया है, जिसके अब घरेलू गैस सिलेंडर की कीमत 794 से बढ़कर 819 रुपये हो गई है। 1 फरवरी से लेकर 1 मार्च के बीच 14.2 किलोग्राम रसोई गैस सिलेंडर के दाम में 125 रुपये का इजाफा हुआ है। इससे पहले 1 फरवरी को रसोई गैस सिलेंडर के दाम में 25 रुपये, 15 फरवरी को 50 और फिर 25 फरवरी को 25 रुपये का इजाफा किया गया था। एक सप्ताह के भीतर सोमवार यानी 1 मार्च को रसोई गैस के दाम में 25 रुपये प्रति किलो गैस सिलेंडर की बढ़ोतरी की गई। ऐसे में एक महीने के दौरान रसोई गैस सिलेंडर के दाम में 125 रुपये का इजाफा हो चुका है।

    ये भी पढ़े-बच्चों ने झाड़ी से उठाया गेंद ,पटकते ही हुआ भयानक हादसा

    खाद्य तेलों में भी लगी आग 

    खाद्य तेलों में भी लगी आग से घरेलू बाजार में कीमतें बेकाबू होने लगी हैं। इस तेजी को रोकने के लिए सरकार की ओर से आयात शुल्क में कटौती के कदम से भी उपभोक्ताओं को कोई राहत नहीं मिल पा रही है। खाद्य तेलों के प्रमुख उत्पादक देशों से आपूर्ति घटने से अंतरराष्ट्रीय जिंस बाजार में तेजी का रुख है, जिसका सीधा असर घरेलू बाजार पर पड़ रहा है। कोरोना काल के दौरान आयातित पाम आयल की कीमतें 80 से 85 फीसद तक बढ़ी हैं। 


    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें




    %25E0%25A4%25B5%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25AC%25E0%25A4%25B8%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2587%25E0%25A4%259F%2B%25E0%25A4%25B2%25E0%25A5%258B%25E0%25A4%2597%25E0%25A5%258B

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad