Header Ads

  • BREAKING NEWS

    NEW DELHI:फ्लाइट से यात्रा करने वाले यात्री के लिए अच्छी खबर,अब फ्लाइट में कर सकेंगे वीडियो कॉलिंग

    We News 24 Hindi »दिल्ली/राज्य
    NCR/दिल्ली/ब्यूरो संवाददाता आरती गुप्ता 

    नई दिल्ली: फ्लाइट से यात्रा करने वाले यात्री  के लिए अच्छी खबर है। अब, यात्रा के दौरान यूजर्स इंटरनेट एक्सेस कर सकेंगे। नगर विमानन मंत्रालय (Civil Aviation Ministry) से इन-फ्लाइट इंटरनेट एक्सेस के लिए मंजूरी मिल सकती है। नगर विमानन मंत्रालय के डायरेक्टर जनरल पायलट इन कमांड को विमान यात्रा के दौरान पैसेंजर को इंटरनेट एक्सेस का परमिशन दे सकते हैं। Wi-Fi Onboard सर्विस के जरिए लैपटॉप, स्मार्टफोन, टेबलेट, स्मार्टवॉच, ई-रीडर और POS डिवाइस आदि को इंटरनेट से कनेक्ट किया जा सकेगा। इस फीचर के इनेबल होने के बाद पैसेंजर्स फ्लाइट मोड में भी इंटरनेट एक्सेस कर सकेंगे।

    ये भी पढ़े-मोदी और योगी सरकार के झूठे दावे, PM मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी मेंआयुष्मान मित्र गोल्डन कार्ड होते हुए भी नहीं हो रहा है मरीजो के ईलाज

    पिछले दिनों ही निजी विमानन कंपनी Air Vistara ने दावा किया है कि घरेलू फ्लाइट में इन-फ्लाइट इंटरनेट एक्सेस देने वाली वो पहली एयरक्राफ्ट होगी। Vistara इलेक्ट्रॉनिक कंपोनेंट और डिवाइस बनाने वाली कंपनी Panasonic के साथ इन-फ्लाइट इंटरनेट सेवा मुहैया कराने के लिए साझेदारी की है। इस साझेदारी के तहत कंपनी पैसेंजर्स को इन-फ्लाइट कनेक्टिविटी मुहैया कराएगी, इसके लिए कंपनी ने दूरसंचार विभाग से लाइसेंस लेगी, ताकि इन-फ्लाइट मेरिटाइम कनेक्टविटी की मदद से पैसेंजर्स को फ्लाइट के अंदर इंटरनेट कनेक्टिविटी मिल सकेगी।
    2008 में पहली बार शुरू हुई सर्विस

    ये भी पढ़े-West Bengal:कोलकाता में गृह मंत्री अमित शाह का जोरदार विरोध,अमित शाह गो बैक’ के लगे नारे

    इन-फ्लाइट इंटनरेट की सेवा सबसे पहले 2008 में शुरू की गई थी। अमेरिका में वर्जिन एटलांटिक एयरलाइंस में  सबसे पहले इस सेवा को शुरू किया गया था। इसमें एयरलाइंस ने सैटेलाइट इंटरनेट की मदद से यात्रियों को 3Mbps तक की इंटरनेट स्पीड देने का दावा किया था। इसके बाद अमेरिका और जर्मनी की कई एयरलाइंस कंपनियों ने ग्राहकों को ये सुविधा देनी शुरू कर दी।
    कैसे करेगा काम?

    ये भी पढ़े-DELHI VIOLENCE:किसी भी सूरत में हिंसा फैलाने वाले को छोड़ा नहीं जाएगा,दंगाइयों के खिलाफ होगा हत्‍या का केस दर्ज,दिल्ली पुलिस कमिश्‍नर

    In-Flight इंटरनेट सेवा को मुहैया कराने के लिए ATG (एयर-टू-ग्राउंड) तकनीक के पहले सैटेलाइट्स सिग्नल को जमीन पर बने रिसीवर्स (मोबाइल टावर्स) में भेजा जाता है। बाद में एयरलाइंस में बने एंटीना की मदद से फ्लाइट में इंटरनेट सिग्नल को एक्सेस किया जा सकता है। हालांकि, इस तकनीक की मदद से इंटरनेट केवल तब एक्सेस किया जा सकेगा जब फ्लाइट जमीन के ऊपर उड़ रहा हो। अगर, फ्लाइट समुद्र के ऊपर होगा तो यात्रियों को फ्लाइट में इंटरनेट की सुविधा नहीं मिल पाएगी। इसके लिए सैटेलाइट इंटरनेट कनेक्टिविटी तकनीक का सहारा लिया जाएगा और फ्लाइट में इंटरनेट सर्विस मुहैया कराई जाएगी।

    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad