Header Ads

  • BREAKING NEWS

    Himachal News:लॉक डाउन में महिलाओं की स्थिति में आया बदलाव और परेशानियां




    We News 24 Hindi »हिमाचल प्रदेश/राज्य

    सोलन /रिपोर्टर सत्यदेव शर्मा सहोड़


    • लॉक डाउन में महिलाओं की स्थिति में आया बदलाव व परेशानियां
    • भविष्य में ऑनलाइन स्टडी की बहुत संभावनाएं है



    सोलन। कोविड-19 के चलते हुए लॉक डाउन का प्रभाव समाज के हर तबके व हर व्यक्ति पर पड़ा है, चाहे वो स्त्री हो या पुरुष। कोरोना काल में नकारात्मक के साथ- साथ कुछ सकारात्मक परिवर्तन भी आये है, जैसे- प्रदूषण की कमी से पर्यावरण की दशा में सुधार, अधिक साफ सफाई के कारण सामान्य बीमारियों में कमी, पारिवारिक संबंधों में निकटता का बढऩा, लोगो की किसी कार्य को लेकर छोटे व बड़े के प्रति मानसिकता में बदलाव आदि।


     वहीं दूसरी ओर बहुत सारे नकारात्मक प्रभाव भी पड़े हैं। बददी में लंबे समय से लोगों व बच्चों को फिट रखने के  लिए मार्शल आर्ट एकेडमी चलाने वाली युवा फिटनेस ट्रेनर ममता कुंवर ने लॉकडाऊन में महिलाओं की स्थिति पर विभिन्न सर्वेक्षण व अवलोकन किया है। मीडिया से बातचीत में उन्होने कहा कि हमने समाज में महिलाओं की लॉक डाउन में स्थिति जानने के लिए एक सर्वे किया जिसमें समाज के हर वर्ग व उम्र की महिलाओं जैसे गृहणी, ग्रामीण इलाकों की महिलाओं, कामकाजी महिलाओं, कॉलेज में पढ़ाई करने वाली लड़कियों, बस्तियों में साफ सफाई करने वाली महिलाओं, आर्थिक रूप से अत्यधिक संपन्न महिलाओं से बात की, और उनकी समस्याओं व समाधान के बारे में बात की।

    ये भी पढ़े-Bihta Bihar News:बीरेंद्र प्रताप सिंह करणी सेना युवा शक्ति के प्रदेश महामंत्री बने

    सर्वे के अनुसार कई महिलाओं ने बताया कि घरेलू कार्यों में वृद्धि होने के साथ- साथ घरेलू हिंसा में भी बढ़ोत्तरी हुई है, और दूसरी ओर कुछ लोग अपने परिवार को समय नहीं दे पाते थे अब लॉक डाउन में रिश्ते काफी सुधर गए व पारिवारिक जनों को समझने में भी  मदद मिली है। ग्रामीण क्षेत्रों में लॉक डाउन का कुछ विशेष प्रभाव नहीं पड़ा, उनके सभी कार्य पूर्ववत चल रहे हैं। वहीं कामकाजी महिलाओं विशेषकर प्राइवेट सेक्टर में कार्य करने वाली व सेवा बस्ती महिलाएं अभी आर्थिक परेशानियों से गुजर रहे हैं, उन्हें कम वेतन देकर काम करवाया जा रहा है, और कुछ को अपनी नौकरी से भी हाथ धोना पड़ा। जिस कारण आर्थिक तंगी से सामना करना पड़ रहा है। वो महिलाएं जो आर्थिक रूप से संपन्न हैं उनको अधिक समस्या से सामना नहीं करना पड़ा।

    ये भी पढ़े-Covaxin Human Testing: मिल गया देश को पहला कोरोना वैक्सीन परीक्षण करने वाला व्यक्ति ,जानिए कौन है यह व्यक्ति

      

    कुछ महिलाओं ने लॉक डाउन को अवसर में परिवर्तित कर दिया और अपने हुनर का प्रदर्शन कर नए काम भी शुरू किए जैसे- ऑनलाइन माध्यम से एक्टिविटी कक्षाएं संचालित की जैसे- डांस क्लास, योगा क्लास, आर्ट एंड क्राफ्ट, मार्शल आर्ट्स, ऑनलाइन टीचिंग आदि, जिससे उनके आत्मिश्वास में भी वृद्धि हुई और आर्थिक रूप से स्थिति बदतर होने से बच गई और अपने परिवार की मदद भी कर पाई। 

    ये भी पढ़े-Bhagalpur News: बढ़ते संक्रमण के चलते भागलपुर में13 जुलाई तक लगा लॉकडाउन


    ममता कुंवर ने कहा कि इन सब से बात करने के बाद विशेष अनुभव हुआ कि भविष्य में ऑनलाइन स्टडी की बहुत संभावनाएं है, और यदि महिलाएं अपने हाथो में कोई भी हुनर रखे और आत्मिश्वास के साथ काम करे तो वो हर परिस्थिति में अपने व परिवार का भरण पोषण करने में सक्षम हैं। कुछ महिलाएं जो कि ग्रामीण क्षेत्रों से हैं व प्रवासी हैं उनकी इच्छा अपने गांव में जाकर स्वरोजगार के अवसर पैदा करना है। उनका विश्वास है कि उनका भविष्य गांव में शहरों की अपेक्षा अधिक सुरक्षित है।

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad