Haider Aid

  • Breaking News

    मोदी सरकार की दो टुक नहीं लिए जायेंगे कृषि कानून वापस ,किसान यूनियनों ने आंदोलन तेज करने की घमकी कहा रोक देंगे देश भर की रेल व्यवस्था



    We News 24 Hindi »नई दिल्ली 

    आर्यन गुप्ता  की रिपोर्ट 


    नई दिल्ली। सरकार और किसानों के बीच गतिरोध बढ़ता ही जा रहा है। किसान नेताओं के अडि़यल रवैये के कारन कोई निष्कर्ष निकलता नहीं दिख रहा है । पांच दौर की वार्ता में चिह्नित मसलों पर सरकार के प्रस्ताव पर चर्चा के लिए होने वाली छठे दौर की वार्ता गर्त में चली गई। सरकार के प्रस्ताव पर जवाब देने की बजाय किसान यूनियनों ने आंदोलन और तेज करने और देशभर के रेलवे ट्रैक बाधित करने की चेतावनी दी है। किसान नेताओं के इस रुख को सरकार ने गैरवाजिब करार दिया है। अब वार्ता के लिए कोई तारीख तय नहीं की गई है। सरकार को अभी भी किसानों के औपचारिक जवाब का इंतजार है।


    ये भी पढ़े-बिहार के इस थाने में घुसकर बदमाशों ने पुलिसवाले पर धारदार चाकू से हमला किया


    भटकती नजर आ रही आंदोलन की दिशा 


    बुधवार को संशोधन प्रस्ताव भेजने के बाद किसानों की ओर से अगली बैठक की तारीख तय होनी थी, जिसमें एतराज वाले बिंदुओं पर चर्चा की जानी थी। किसान नेताओं ने वार्ता की जगह अचानक आंदोलन की घोषणा कर डाली। किसानों और खेती से जुड़े मसलों पर चिंता जताने आई यूनियनों ने अब अपने आंदोलन में टोल प्लाजा खोल देने, निजी कंपनियों के उत्पादों का बहिष्कार करने जैसे मुद्दे उठाने शुरू कर दिए हैं। उनके आंदोलन की दिशा भटकती दिखने लगी है।


    बातचीत के रास्‍ते पर आएं किसान: कृषि मंत्री 


    किसान यूनियनों को भेजे प्रस्ताव और उनकी जिद के मद्देनजर अपनी स्थिति साफ करने की मंशा से आयोजित प्रेसवार्ता में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, 'किसान नेताओं को वार्ता के रास्ते पर आना चाहिए। यहीं से कोई हल निकलेगा।' किसान यूनियनों की ओर से संशोधन प्रस्ताव पर कोई जवाब न आने पर तोमर ने निराशा भी जताई। उन्होंने कहा कि कोरोना जैसी आपदा और बढ़ती ठंड में बाहर सड़कों पर आंदोलन करने की जगह वार्ता से हल निकालने की कोशिश होनी चाहिए।


    ये भी पढ़े-बेख़ौफ़ अपराधियों ने राजद नेता के बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी


    कोई कानून खराब नहीं हो सकता 


    किसानों की कानून वापसी की मांग के सवाल पर तोमर ने कहा, 'कोई कानून पूरी तरह खराब नहीं हो सकता। कुछ प्रावधानों पर दिक्कत हो सकती है, लेकिन इस पर कोई कदम उठाना तब संभव है, जब उन बिंदुओं पर चर्चा हो। चर्चा का रास्ता खुला हुआ है।' तोमर ने बताया कि कई दौर की लंबी चर्चा में ये सारे विषय आए थे, जिनके आधार पर प्रस्ताव बनाए गए हैं। अब उन्हें इन प्रस्तावों पर विस्तृत चर्चा के लिए आना चाहिए।


    ये भी पढ़े-सिलीगुड़ी हिंसक मामले में ममता सरकार ने किया बीजेपी नेताओं के खिलाफ केस दर्ज



    एमएसपी का नए कानूनों से लेनादेना नहीं 


    न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) के सवाल पर तोमर ने कहा, 'इसका इन तीनों कानूनों से कोई संबंध नहीं है। इससे एमएसपी प्रभावित नहीं होता है। यह पहले की तरह जारी रहेगा।' कृषि कानूनों को लेकर उठाई जा रही आशंकाओं के बारे में कृषि मंत्री ने स्पष्ट किया कि सरकार किसानों के हित संरक्षण के लिए कानून बना रही है। उन्हें उपज बेचने का अतिरिक्त विकल्प दिया जा रहा है। कृषि क्षेत्र में निजी निवेश बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे हैं।



    वार्ता के लिए अगली तारीख नहीं 


    सरकार की ओर से फिलहाल वार्ता के लिए कोई अगली तारीख तय नहीं की गई है। सरकार को अपने प्रस्तावों पर किसान यूनियनों के जवाब का इंतजार है। तोमर ने कहा कि सरकार ने किसानों के हित में ऐतिहासिक कार्य किए हैं, जिससे किसानों की आमदनी बढ़ाने में मदद मिलेगी। देश के 10.40 करोड़ किसानों को अब तक एक लाख करोड़ रुपये से अधिक की नकद वित्तीय मदद सीधे उनके खाते में दी गई है। कृषि क्षेत्र के बुनियादी ढांचे के विकास के लिए एक लाख करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।



    कांट्रैक्ट फार्मिग में किसानों के हित सुरक्षित


    रेल व वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, 'कांट्रैक्ट फार्मिग कानून में किसानों के खेत को पूरी तरह सुरक्षित रखा गया है। किसानों के हित में हर संभव प्रावधान किए गए हैं। फिर भी कोई दिक्कत होगी, तो सुधार के लिए सरकार तैयार है। पंजाब, हरियाणा, कर्नाटक, गुजरात, महाराष्ट्र, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश समेत 10 राज्यों में यह कानून बहुत पहले से है। किसानों के खेत पर कांट्रैक्ट खेती वाला न लोन ले सकता है और न ही कब्जा कर सकता है।'  





    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें





    %25E0%25A4%25B5%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25AC%25E0%25A4%25B8%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2587%25E0%25A4%259F%2B%25E0%25A4%25B2%25E0%25A5%258B%25E0%25A4%2597%25E0%25A5%258B


    Post Top Ad

    Post Bottom Ad