Haider Aid

  • Breaking News

    दिल्ली दंगा की साजिश उमर खालिद व शरजील इमाम ने ही रची, बंगाली बोलने वाली 300 महिलाएं बुलाई गई थी




    We News 24 Hindi » नई दिल्ली 

    काजल कुमारी  की रिपोर्ट



    नई दिल्ली: दिल्ली दंगे में गिरफ्तार JNU  के पूर्व छात्र उमर खालिद और शरजील इमाम और  फैजान खान के खिलाफ दायर पूरक आरोप पत्र पर कड़कड़डूमा कोर्ट ने संज्ञान ले लिया है। कोर्ट का कहना है कि आरोपितों के खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए पर्याप्त सामग्री है। कोर्ट ने मामले में अगली सुनवाई 2 दिसंबर के लिए तय की है। स्पेशल सेल द्वारा कड़कड़डूमा कोर्ट में दायर पूरक आरोपपत्र में कहा गया है कि दंगे में यही दोनों मुख्य साजिशकर्ता थे। इसमें भी रिमोट उमर के पास था। देश की छवि खराब करने के लिए ये दंगे कराए गए। आरोपपत्र में दंगे के लिए बनाए गए व्हात्सप ग्रुप का भी जिक्र किया गया है, जिसके जरिये लोगों को भड़काया गया। 



    ये भी पढ़े-सुशील मोदी ने कहा-जेल से लालू प्रसाद कर रहे NDA विधायकों को फोन, सरकार गिराने की साजिश



    स्पेशल सेल ने आरोपपत्र में यह भी कहा है कि उमर खालिद ने बंगाली भाषा बोलने वाली व बुर्का पहने 300 महिलाओं को पथराव करने के लिए बुलाया था। बता दें कि फरवरी में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप दिल्ली आए हुए थे, तभी नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध के नाम पर यहां दंगे भड़काए गए। इसकी शुरुआत जामिया से की गई, लेकिन वहां सफलता नहीं मिली। इसके बाद उत्तर-पूर्वी दिल्ली से दंगे की आग भड़काई गई।



    स्पेशल सेल ने सितंबर में कोर्ट में आप के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन, उमर, शरजील व पिंजरा तोड़ संगठन के कई सदस्यों के खिलाफ दंगे का मुख्य आरोपपत्र दायर किया था। अब उमर और शरजील के खिलाफ पूरक आरोप पत्र दायर किया गया है।


    ये भी पढ़े-संजय राउत का नितीश सरकार पर कसा तंज ,कहा बिहार में नितीश सरकार लाये 'लव जिहाद' कानून ,उसके बाद सोचेगा महाराष्ट्र


    उमर बचने के लिए चला गया था बिहार
    उमर खालिद ने शातिर तरीके से दंगे की साजिश रची। दंगे से एक दिन पहले ही वह हवाई जहाज से बिहार के समस्तीपुर चला गया था ताकि उसपर शक न हो सके। जांच में पता चला है कि दंगा उसकी साजिश का हिस्सा था। बिहार से ही उसने साथियों के माध्यम से नापाक मंसूबों को अंजाम तक पहुंचाया। दंगे थमने के बाद वह दिल्ली लौट आया। आरोपपत्र में कहा गया है कि उमर खालिद दंगे का मास्टरमाइंड है, उसने साथियों के साथ मिलकर दंगे की साजिश रची। दंगे का रिमोट उसके पास ही था।

    भड़काऊ भाषण देता रहा है शरजील
    पुलिस के अनुसार, उमर खालिद को यह मालूम था कि शरजील इमाम अक्सर देशविरोधी व भड़काऊ भाषण देता रहता है। इसलिए उसने ताहिर हुसैन समेत अन्य साथियों के साथ मिलकर शरजील को भड़काऊ भाषण के लिए चुना। शरजील ने विशेष समुदाय में मौजूदा सरकार के खिलाफ जहर घोलने में कोई कसर नहीं छोड़ी।


    ये भी पढ़े-शादी समारोह के दौरान चाचा-भतीजे को गोली मारकर हत्या ,अपराधियों को ग्रामीणों ने पीटकर मार डाला


    युवाओं का किया गया ब्रेनवॉश
    आरोपपत्र में कहा गया है कि खालिद, शरजील, फैजान और ताहिर हुसैन ने साथियों के साथ मिलकर पहले युवाओं का ब्रेनवॉश किया। चंद लोगों ने पहले मिलकर दंगे की साजिश रची और उसके बाद ब्रेनवॉश करके दंगाइयों की फौज तैयार करते रहे। सरकार के खिलाफ भड़काने के लिए वह उनसे कहते थे कि सरकार उन्हें किसी कीमत पर नौकरी नहीं देगी। ये लोग इंटरनेट से फर्जी आंकड़ों को जुटाते और युवाओं को दिखाते।



    इंटरनेट कॉल से करते थे एक-दूसरे से संपर्क

    उमर व उसके साथी इंटरनेट कॉल से एक-दूसरे से संपर्क करते थे, ताकि कोई उनकी बातों को रिकॉर्ड न कर सके। इसके साथ ही 25 से ज्यादा वाट्सएप ग्रुप बनाए गए थे। 








    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें





    %25E0%25A4%25B5%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25AC%25E0%25A4%25B8%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2587%25E0%25A4%259F%2B%25E0%25A4%25B2%25E0%25A5%258B%25E0%25A4%2597%25E0%25A5%258B

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad